लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल फाउंडेशन के तत्वधान में सुभाष चंद जयंती मनाई गई

 लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल फाउंडेशन के तत्वधान में सुभाष चंद जयंती मनाई गई



फतेहपुर।लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल फाउंडेशन के तत्वाधान में आजाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में देश की शपथ लेने वाले नेताओं के नेता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के अगुवा सुभाष चंद्र बोस जी की 125 वीं जयंती सुभाष अटल जूनियर हाई स्कूल कुंवरपुर विद्यालय पर स्थापित प्रतिमा स्थल पर जनसेवक राजेश सिंह की अगुवाई में मनाई गई जिसकी अध्यक्षता पूर्व प्रधान लोक सेनानी प्रबंधक मूलचंद सिंह तथा संचालन बाबा रामसनेही ने किया 

गोष्ठी को संबोधित करते हुएजनसेवक राजेश सिंह ने कहा कि आज हम स्वतंत्र हैं अगर इनके नेतृत्व करने वाले सुभाष चंद्र बोस ही थे इन्होंने आईसीएस जैसी प्रतिष्ठा पूर्व परीक्षा पास करने के बाद भी जिलाधिकारी जैसे पोस्ट को छोड़कर देश को आजादी के लिए अपना संपूर्ण तन मन धन अर्पित कर दिया था आधुनिक नेताओं में पद और प्रतिष्ठा को लेकर जिस तरह से द्वंद है उन्हें देश के लिए सुभाष चंद्र बोस से प्रेरणा लेना चाहिए आचार्य कमलेश योगी ने बताया कि हमें इतिहास नेतृत्व बताया गया है कि हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ है जब नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने 30 दिसंबर 1943 का दमन और दीव जैसी स्थान को स्वराज स्वराज एवं आजाद नामकरण कर अंग्रेजों के झंडे को हटाकर तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज फहराया  कर जन गन मन गन राष्ट्रगान के साथ प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में देश की शपथ ली थी इसके इनके साथ अन्य छह मंत्रियों ने शपथ लिया था जिसे विश्व के 11 देशों में मान्यता दी थी कार्यक्रम में मुख्य रूप से सैकड़ों छात्र-छात्राएं एवं वीरेंद्र सिंह मूलचंद सिंह अजीत पटेल कमल सिंह प्रधानाध्यापक अजमेर सिंह बाबा रामसनेही आचार्य कमलेश योगी ज्ञानेंद्र कुमार मोहर सिंह जनसेवक राजेश सिंह आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Popular posts
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है