जिला योजना में प्रभारी मंत्री ने रू0 40671 लाख के प्रस्तावित परिव्यय को अनुमोदित किया

 जिला योजना में प्रभारी मंत्री ने रू0 40671 लाख के प्रस्तावित परिव्यय को अनुमोदित


किया 


फतेहपुर।राम नरेश अग्निहोत्री, मा० मंत्री, आबकारी एवं मद्य निषेद्य विभाग उ0प्र0

सरकार/प्रभारी मंत्री फतेहपुर की अध्यक्षता में वर्ष 2021-22 जिला योजना समिति की

बैठक विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई।प्रभारी मंत्री को जिलाधिकारी

श्रीमती अपूर्वा दुबे, खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति उ0प्र0 सरकार,रणवेन्द्र

प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह, कारागार एवं लोक सेवा प्रबधंन उ0प्र0 सरकार जय

कुमार सिंह जैकी को मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, विधायक सदर 

विक्रम सिंह जिला विकास अधिकारी रमेश चन्द्रा,  विधायक बिन्दकी को सीएमओ,

विधायक अयाह शाह को वनाधिकारी ने पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया।

प्रभारी मंत्री ने जिला योजना की समिति के सदस्यों का अभिनन्दन करते हुए कहा कि आज जो जिला योजना प्रस्तावित थी वह फतेहपुर के विकास के लिये

अनुमोदित की गयी है। इस योजना से जनपद का चौमुखी विकास होगा और प्रदेश

सरकार के अन्त्योदय का सपना साकार होगा। उन्होने अधिकारियों से कहा कि जनपद

के उत्थान के लिये पुनः प्रयास करना होगा जो धनराशि अनुमोदित की गयी है के सापेक्ष

मिलेगी उसका शतोपयोग करके विकास कार्यों में लगाया जाय। उन्होने कहा कि जनपद-फतेहपुर के सहय के नये अधिकारी के रूप में नही आता मेरा उद्देश्य है कि जनपद विकास के रास्ते पर चले और अपनी अच्छी पहचान बनाये। हमने एक अच्छी जिला योजना का प्रस्तुतीकरण किया है जिसमें जनपद का चौमुखी विकास होगा। प्रभारी मंत्री ने जनपद फतेहपुर की जिला योजना वर्ष 2021-22 की संरचना हेतु परिव्यय रू0 40671.00 लाख को विभागवार फॉट करते हुए समिति द्वारा अनुमोदित किया गया। जिसमें कृषि रू0 36.00 लाख , पशुपालन रू0 199.50 लाख,

दुग्ध विकास रू0 73.16 लाख, सहकारिता रू0 57.20 लाख, वन रू0 606.25 लाख,

ग्राम्य विकास के विशेष कार्यक्रम(राष्ट्रीय आजीविका मिशन) रू0 1300.85 लाख, मनरेगा योजना रू0 16487.06 लाख, सामुदायिक विकास(ग्राम्य विकास) 50.00 लाख, निजी लघु सिंचाई रू0 1999.51 लाख, राजकीय लघु सिंचाई रू0 127.19 लाख, अतिरिक्त ऊर्जा

श्रोत रू0 47.33 लाख, खादी एवं ग्रामोद्योग रू0 3.00 लाख, रेशम उद्योग रू0 6.50

लाख, सड़क एवं पुल रू0 1063.97 लाख, पर्यावरण रू0 2.00 लाख, पर्यटन रू0 70.00

लाख, प्राथमिक शिक्षा रू0 1224.21 लाख, माध्यमिक शिक्षा रू0 179.00 लाख, प्राविधिक शिक्षा रू0 30.00 लाख, प्रादेशिक विकास दल रू0 24.40 लाख, खेलकूद रू0 145.00 लाख, ऐलोपैथिक चिकित्सा रू0 422.42 लाख, अस्पतालों/औषद्यालयों में विशिष्टि सुविधा रू0 129.32, परिवार कल्याण रू0 300.00 लाख, होम्योपैथिक चिकित्सा रू0 124.95 लाख, आयुर्वेदिक रू0 37.05 लाख एवं यूनानी रू0 37.05 लाख, ग्रामीण आवास रू0 12408.00 लाख, नगर विकास रू0 587.15 लाख, अनु0जाति कल्याण विभाग रू0 309.00 लाख, पिछड़ी जाति कल्याण रू0 235.00 लाख, अल्पसंख्यक कल्याण रू0 118.43 लाख,समाज कल्याण-सामान्य जाति रू0 123.00 लाख, सेवायोजन रू0 1.51 लाख, शिल्पकारप्रशिक्षण रू0 195.59 लाख, समाज कल्याण रू0 1483.00 लाख, दिव्यांग जन सशक्तीकरण रू0 127.40 लाख एवं महिला कल्याण रू0 300.00 लाख कुल रू0 40671. 00 लाख के परिव्यय को सर्वसम्मति से जिला योजना को अनुमोदित किया गया।

जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे ने समिति के सदस्यों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वर्ष-2021-22 हेतु अनुमोदन किया गया है और बैठक में दिये गये मार्गनिर्देशों

के अनुसार कार्य सम्पन्न किये जायेंगे। बैठक का संचालन जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी जोगेन्द्र यादव ने किया। बैठक में खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति, उ0प्र0 सरकार, रणवेन्द्र

प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह, मा० कारागार एवं लोक सेवा प्रबधंन जय कुमार सिंह जैकी,सदर विधायक  विक्रम सिंह, विधायक अयाह शाह विकास गुप्ता,विधायक खागा श्रीमती कृष्णा पासवान,विधायक बिन्दकी करन सिंह पटेल,

मा0 पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा  प्रमोद द्विवेदी, पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, मुख्य

विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, जिला विकास अधिकारी रमेश चन्द्रा, पीडी ए0के0निगम, मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, जिला सेवायोजन अधिकारी,ईओ नगर पालिका परिषद जिला सूचना अधिकारी आर0एस0वर्मा, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत, पीडब्लूडी, जल निगम एवं जिला योजना समिति के सम्मानित सदस्य उपस्थित

रहें।इसके पश्चात प्रभारी मंत्री के कर कमलों द्वारा जिला महिला चिकित्सालय में उ0प्र0 के पहले एमएनसीयू, एसएनसीयू का फीता काटकर उद्घाटन किया गया, के दौरान प्रदेश सरकार के प्रदेश के राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह, विधायक सदर  विक्रम सिंह, विधायक खागा श्रीमती कृष्णा पासवान, विधायक बिन्दकी करन सिंह पटेल,  विधायक अयाह शाह विकास गुप्ता, जिलाधिकारी

श्रीमती अपूर्वा दुबे, पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, मुख्य विकास अधिकारी सत्य

प्रकाश, मुख्य चिकित्साधिकारी डा गोपाल कुमार महेश्वरी , मुख्य चिकित्साधीक्षिक महिला

डा० रेखा रानी आदि उपस्थित रहें। मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका जिला महिला चिकित्सालय ने कि फतेहपुर की आबादी

लगभग 26.03 लाख है, में 45 हजार बच्चे प्रतिवर्ष जन्म लेते है जिनमें लगभग 2000

बच्चे एक वर्ष की आयु के पूर्व एवं लगभग 800 जन्म लेने के 24 घण्टे के अन्दर विभिन्न

कारणों जैसे-ठण्डा बुखार, श्वांस लेने में परेशानी, इंफेक्शन आदि से मर जाते है जिसमें

से अधिकांश बच्चों को बचाया जा सकता है। यदि उन्हे उचित समय पर स्वास्थ्य सेवाएं

उपलब्ध करा दी जाये इसी उद्देश्य को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के जनपद फतेहपुर में यूनीसेफ के सहयोग से जिला महिला चिकित्सालय फतेहपुर में पहला एमएनसीयू, एसएनसीयू की स्थापना की गयी है। जिसमें प्रसव के पश्चात माँ एवं

नवजात शिशु को होने वाली मृत्यु को रोका जा सकता है।