अब बैंक डूबा तो तुरंत मिलेगी पांच लाख तक की राशि, बनेगा कानून

 अब बैंक डूबा तो तुरंत मिलेगी पांच लाख तक की राशि, बनेगा कानून



न्यूज़।बैंक डूबने या वित्तीय दबाव में फंसने पर जमाकर्ताओं के 5 लाख रुपए तक की रकम अब तत्काल मिल जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में ऐलान किया, बैंक दिवालिया होंगे तो उपभोक्ताओं को सुविधा पूर्वक और नियत समय में खाते की राशि मिल जाएगी। इसके लिए डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन एक्ट (डीआईसीजीसी एक्ट) में बदलाव किया जाएगा। हाल में यस बैंक और बीएनसी सहकारी बैंक पर वित्तीय बोझ बढ़ा, जिससे जमाकर्ताओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। दरअसल, पहले बैंक का लाइसेंस रद्द होने के बाद या बैंक के दिवालिया घोषित होने की प्रक्रिया शुरू होने के बाद ही बीमा की रकम मिल पाती थी। हालांकि, नियमों में बदलाव के बाद अब खाता फ्रिज होते ही बीमा के तहत जमाकर्ता अपनी राशि का दावा कर सकेंगे। गौरतलब है कि सरकार ने बीते साल ही बैंक में जमा रकम पर बीमा राशि 1 लाख से बढ़ाकर 5 लाख कर दी थी।