वर्षा बूंदों को खेत में रोकने के लिए देश की पहली मेड़बंदी यज्ञ यात्रा

 वर्षा बूंदों को खेत में रोकने के लिए देश की पहली मेड़बंदी यज्ञ यात्रा 


बाँदा -  जिले के ओरन गांव से हुई। उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री प्रो. डॉ. महेंद्र सिंह ने फावड़े से खेत की मेड़ बना उस पर पेड़ लगाकर इसकी शुरुआत की। उन्होंने स्वयं मेड़बंदी के लिए श्रमदान किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि जो वर्षा जल को रोकेगा, भारत माता के कोख में पानी भरेगा, उसे सिद्धि-प्रसिद्धि और समृद्धि मिलेगी।

जल में ही अमृत है, जल में ही ऊर्जा है, जल में ही सारे देवता वास करते हैं, जल ही जीवन है। कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में यूपी का बुंदेलखंड पानीदार होगा।कहा कि समाज और सरकार मिलकर मेड़बंदी सहित परंपरागत तरीके से वर्षा जल को रोकने की कोशिश करेंगे। बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के सपनों को हम सब मिलकर पूरा करेंगे। एक-एक बूंद जल को हमें बचाना होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जल आंदोलन को जन आंदोलन में बदलने के लिए स्थानीय जखनी गांव के किसानों ने पुरखों की जिस विधि को खोज कर खेत और गांव को पानीदार बनाया, उसका नाम मेड़बंदी है। यह विधि सूखा प्रभावित देश के प्रत्येक राज्य के लाखों गांवों तक बिना किसी प्रचार-प्रसार के पहुंच गई। खेत और गांव को पानीदार बनाने वाली इस विधि में किसी प्रकार के प्रशिक्षण या नवीन ज्ञान या मशीन या शिक्षा संसाधन की आवश्यकता नहीं है। अपने श्रम से कोई भी किसान युवा मजदूर फावड़े और लकड़ी की टोकरी मात्र से वर्षा का पानी रोक कर अपने खेत को पानीदार बना सकता है।चित्रकूट धाम मंडल के कमिश्नर दिनेश कुमार सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप चित्रकूट धाम मंडल में मेड़बंदी के माध्यम से जल संरक्षण किया जाएगा। मेड़ के ऊपर पेड़ लगाए जाएंगे। मेड़बंदी विधि जल संरक्षण की दिशा में प्रमाणित पुरखों की सबसे सरल विधि है। बुंदेलो भूजल चौपाल के संयोजक भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष कार्यसमिति सदस्य राजेश द्विवेदी ने कहा कि जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह जी ने स्वयं फावड़ा उठाकर श्रमदान देकर पौधरोपण कर सामाजिक कार्यकर्ताओं का जिस प्रकार मनोबल बढ़ाया है, ऐसे प्रयासों से ही स्वयंसेवक तैयार होते हैं।

तिंदवारी बांदा के विधायक बृजेश प्रजापति, बबेरू बांदा के विधायक चंद्रपाल कुशवाहा, मऊ मानिकपुर के विधायक आनंद शुक्ला, उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री शिव शंकर पटेल, भाजपा बांदा के जिला अध्यक्ष रामकृष्ण निषाद, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चंद्र वर्मा, उप जिलाधिकारी जेपी यादव समेत उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बुंदेलखंड के प्रत्येक जिले से आए दो जल सेवकों को जल चेतना सम्मान प्रदान किया गया। 13 जिलों के 30 जल दूतों को जल शक्ति मंत्री ने सम्मानित किया। बुंदेलखंड की पहली भू जल चौपाल में बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी, युवा शक्ति ने सहभागिता की। जल योद्धा उमा शंकर पांडे के नेतृत्व में यह मेड़बंदी यज्ञ रथ यात्रा 6 माह में उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के 13 जिलों के सूखा प्रभावित 111 गांव की यात्रा करेगी। खेत पर मेड़ मेड़ पर पेड़ इसका मूल मंत्र होगा।

Popular posts
पाल समुदायिक उत्थान समिति एवं राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के तत्वाधान में सम्मेलन संपन्न
चित्र
एक तो दहेज प्रताड़ना ऊपर से देवर की घिनौनी हरकत से त्रस्त महिला ने लगाई न्याय की गुहार
चित्र
श्री बांके बिहारी मंदिर के प्रबंधन के संबंध में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को योगी सरकार का बड़ा तोहफा, बढ़ाया गया मानदेय
चित्र
पत्रकार की चोरी गयी गाड़ी को पुलिस ने किया बरामद चोर गिरफ्तार।
चित्र