तीनों कृषि कानूनों में किया जाए संशोधन--- किसान नेता अमर सिंह पटेल

 तीनों कृषि कानूनों में किया जाए संशोधन--- किसान नेता अमर सिंह पटेल

---- उप जिलाधिकारी को सौंपा गया 21 सूत्री ज्ञापन

किसान नेताओं ने कहा कि जब तक   केंद्र सरकार हमारी मांग नहीं पूरी करती हम सरकार से दूरी बनाए रखेंगे

गिरिराज शुक्ला

बिंदकी फतेहपुर


केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों में संशोधन की जरूरत है संशोधन के बाद ही तीनों कृषि कानूनों में एक बार फिर समीक्षा की जाए इसके बाद ही कानूनों को लागू करने का प्रयास करना चाहिए। यह बात किसान मजदूर मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमर सिंह पटेल ने सोमवार को तहसील परिसर में मोर्चा के तत्वाधान में आयोजित धरना प्रदर्शन के बाद पंचायत को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा

         उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ पूरे देश के किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं निश्चित रूप से किसानों के आंदोलन को देखते हुए सरकार को लचर नीति अपनाना चाहिए तीनों कृष कानूनों का एक बार फिर बारीकी से अध्ययन कर उसमें संशोधन कर लागू करने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसान मजदूर आयोग का गठन हो तथा संवैधानिक दर्जा प्राप्त हो प्रत्येक किसान मजदूर का 1000000 रुपए का स्वास्थ्य बीमा सरकार द्वारा किया जाना चाहिए उन्होंने मांग किया कि 60 वर्ष की उम्र होने पर प्रत्येक किसान मजदूर को ₹5000 प्रतिमा मासिक पेंशन दिया जाए इसके अलावा देश के सभी कॉलेजों में कृषि शिक्षा को अनिवार्य करने की भी मांग की उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों से वादा किया था कि वह किसानों की आय को दुख नहीं करेंगे लेकिन अभी तक उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया किसान नेता ने कहा कि प्रत्येक किसान का ₹800000 का फसल बीमा मुक्त होना चाहिए इतना ही नहीं उन्होंने किसान मजदूर की बेटी की शादी है ₹100000 का आर्थिक सहयोग प्रदान करने की मांग की उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार जिलों तहसीलों तथा ग्राम सभा में सरकारी जमीनों तालाबों से अवैध कब्जा हटवाए और कब्जा मुक्त जमीनों को गरीबों मजदूरों किसानों को पट्टा कराने का काम किया जाए पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं पर भी उंगली उठाते हुए कहा कि पूरे प्रदेश के सरकारी अस्पतालों की सेवाएं बदहाल है मरीजों को सरकारी अस्पतालों से दवा नहीं मिलती उन्हें बाहर से दवा लाना पड़ता है इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय समस्याओं में सबसे अधिक समस्या अधूरे पड़े 10 वर्षों से बिंदकी बाईपास की है उन्होंने कहा कि ताजुब है कि शासन प्रशासन इस मामले में पूरी तरह से फेल नजर आता है उन्होंने कहा कि किसानों को कम से कम 18 घंटे बिजली दी जानी चाहिए इस मौके पर किसान मजदूर मोर्चा के प्रदेश सचिव रामबरन गौतम मंडल सचिव संतोष कुमार पटेल जिला सचिव महावीर गौतम के अलावा राम लाल पासवान दीपू शुक्ला तेजपाल सक्सेना सिद्ध गोपाल सोनकर रामकिशोर विमलेश कुमार कल्लू गौतम निर्मला देवी सुनकर सहित तमाम किसान मजदूर मोर्चा के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र