मई में पंचायत चुनाव कराने का प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया जा सकता: हाईकोर्ट

 मई में पंचायत चुनाव कराने का प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया जा सकता: हाईकोर्ट



न्यूज़।इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि मई में पंचायत चुनाव कराने का प्रस्ताव प्रथम दृष्टया स्वीकार नहीं किया जा सकता है। कोर्ट ने कहा है कि नियमानुसार 13 जनवरी 21 तक पंचायत चुनाव करा लिए जाने चाहिए थे। किंतु आयोग द्वारा पेश शेड्यूल से मई में चुनाव होने की संभावना है।चुनाव आयोग ने कोर्ट को बताया कि 22 जनवरी को मतदाता सूची तैयार हो गई है। 28 जनवरी तक परिसीमन कर लिया गया है। सीटों का आरक्षण राज्य सरकार को करना है, इसलिए चुनाव कार्यक्रम जारी नहीं किया जा सका। सीटों का आरक्षण पूरा होने के बाद चुनाव में अभी 45 दिन का समय लगेगा। राज्य सरकार की तरफ से कोर्ट से समय मांगा गया।कोर्ट ने याचिका को  सुनवाई के लिए चार फरवरी को दो बजे पुन: पेश करने का आदेश दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति एम एन भंडारी तथा न्यायमूर्ति आर आर अग्रवाल की खंडपीठ ने विनोद उपाध्याय की याचिका पर दिया है। इससे पहले कोर्ट ने आयोग से पंचायत चुनाव को लेकर जानकारी मांगी थी। जिसपर आयोग द्वारा पेश शेड्यूल को कोर्ट ने संवैधानिक उपबंधों के विपरीत मानते हुए अस्वीकार कर दिया है।

Popular posts
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव: एक-एक गांव के आरक्षण चार्ट के लिए अभी करना होगा इंतजार,पहले अफसरों को मिलेगी ट्रेनिंग
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज