अन्ना पशुओं के हमले में जरशी गाय का पेट फटा,जिंदगी और मौत से जूझ रहीं है गाय

 अन्ना पशुओं के हमले में जरशी गाय का पेट फटा,जिंदगी और मौत से जूझ रहीं है गाय



हुसैनगंज(फतेहपुर)।क्षेत्र के अन्ना जानवर हो गए हिंसक,पालतू पशुओं पर हमला करने के साथ साथ इंसानों पर भी कर रहे है हमला,अन्ना जानवरो के हमले में अब तक दर्जनों लोग हो चुके घायल,कई लोगो की हो चुकी मौत।अन्ना जानवर किसानों की फसल को कर रहे है। बर्बाद,सरकार नहीं कर रही कोई इंतजाम,हुसैनगंज, क्षेत्र में अन्ना जानवरो की तादाद इस कदर बढ़ गई है,की अब जानवरो के झुंड किसानों की फसलों को बर्बाद करने के साथ ही अब हिंसक भी हो गए है।अन्ना जानवरो से अपनी फसलों को बचाने के लिए किसान दिन रात खेतों की रखवाली कर रहा है,लेकिन फिर भी फसल को बचा पाना मुश्किल हो रहा है। रात के समय सड़कों पर झुंड का झुंड निकल कर मौत को दावत दे रहे हैं।अब यह अन्ना जानवर इतने हिंसक हो गए है,घर पर बांधे पालतू जानवरों पर हमला कर रहे हैं।बीती रात थाना क्षेत्र के सहिमापुर गांव में धर्मेंद्र सिंह की जर्सी गाय घर पर बंधी थी,दो दर्जन के करीब अन्ना जानवरो का झुंड आया और गाय पर हमला कर दिया।जिससे गाय का पेट फट गया ,आंत बाहर निकल आईं,अब वह जिंदगी और मौत से जूझ रही है,गाय की कीमत करीब 50 हजार रूपए है।अंततः गाय मालिक ने किसी तरह डॉक्टर को बुलाकर टांका लगवाया,क्षेत्र के किसानों का कहना है कि सरकार अन्ना जानवरो के लिए कोई ठोंस योजना लागू नहीं कर रही हैं।जिससे किसानों को राहत  मिल सके,और उसकी बर्बाद हो रही फसल की सुरक्षा हो सके,क्योकि किसान इस समय इस कदर परेशान हो चुका है कि अब उसे कुछ समझ नहीं आ रहा है कि क्या किया जाए।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
भ्रष्ट अधिशासी अभियंता के रहते नहीं हो सकता है योगी सरकार का सपना साकार- तिवारी
चित्र
डीएम अपूर्वा दुबे का प्रयास लाया रंग, कोरोना केसों से मुक्त हुआ दोआबा – तीन दिनों से नया केस न मिलने से अफसरो ने ली राहत की सांस
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र