जनपद में धूमधाम से मनाया गया महिला दिवस

 जनपद में धूमधाम से मनाया गया महिला दिवस



फतेहपुर। जनपद फतेहपुर में महिला दिवस बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया जहां जनपद के विभिन्न विद्यालयों में महिला चौपाल के माध्यम से महिलाओं में जागरूकता फैलाई गई वही जनपद फतेहपुर के अमौली ब्लाक स्थित प्राथमिक विद्यालय रायपुर में अलग ही नजारा देखने को मिला यहां की प्रिंसिपल अम्बे ने जहां ग्रामीण महिलाओं को रोचक ढंग से खेल के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी से अवगत कराया साथ ही घरेलू हिंसा जैसे मुद्दों पर रोचकता पूर्ण तरीके से जानकारी दी प्रधानाध्यापिका के प्रयासों का ही नतीजा है कि प्राथमिक विद्यालय रायपुर तेजी से विकास के क्रम में आगे बढ़ रहा है बच्चे अभिभावक आज विद्यालय में अपने बच्चों को भेजकर शिक्षा के प्रति अपनी सोच बदल कर बच्चों को शिक्षित करने का कार्य कर रहे हैं विद्यालय में महिला दिवस के माध्यम से आयोजित किए गए महिला चौपाल के बारे में जानकारी देते हुए विद्यालय की प्रधानाध्यापिका अम्बे ने बताया कि ग्रामीण परिवेश में बच्चों को शिक्षित करने के साथ-साथ उनके अभिभावकों खासतौर पर किशोरियों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना भी हमारी जिम्मेदारी है जिसके तहत हम समय-समय पर विद्यालय में आयोजित बैठकों में महिलाओं बच्चियों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करते रहते हैं सरकार के द्वारा ग्रामीण परिवेश की महिलाओं के लिए बहुत सी कल्याणकारी योजनाएं संचालित की गई है जरूरत है तो इन योजनाओं का ग्रामीणों तक समुचित पहुंच पाना जिसके लिए विद्यालय एक बेहतर माध्यम है मैंने और मेरे स्टाफ ने गांव की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए विभिन्न तरह के क्रियाकलाप विद्यालय में संचालित किए हैं जिससे यह महिलाएं आत्मनिर्भर बनकर अपनी सोच से समाज में नया परिवर्तन लाने के लिए तैयार हो पाई हैं अभिभावक पान कुमारी ने बताया कि प्रधानाध्यापिका के कुशल स्वभाव का नतीजा है कि हम महिलाएं जो कभी बात करने में हिचकितति थी मैडम के सहयोग से आज हम अपनी बात कह पाती हैं और अपनी बात दूसरों को समझा भी पाती है जहां आज हम ने विभिन्न खेल क्रियाकलापों के माध्यम से रोचक पूर्ण तरीके से जानकारी हासिल की मैडम ने हमें 1090 यौन शोषण कन्या भ्रूण हत्या जैसे मुद्दों पर जानकारी दी और हमें सही उत्तर देने पर उपहार भी दिए जिससे हम बहुत खुश हैं ग्रामीणों के लिए प्रधाना अध्यापिका के द्वारा उठाएं जा रहे यह कदम निश्चित तौर पर सराहनीय है महिला दिवस के लिए जहां सरकार है नारी को सशक्त बनाने के लिए बृहद रूप से आयोजन कर रही हैं  वही प्राथमिक विद्यालय रायपुर की शिक्षिका अम्बे के यहां प्रयास निश्चित रूप से ग्रामीण महिलाओं और बच्चियों के लिए मील का पत्थर साबित होंगे अगर इस तरह के शिक्षक पूरे प्रदेश में शिक्षा को ग्रामीणों तक पहुंचाने का सहज माध्यम बन जाए तो प्राथमिक विद्यालयों की शिक्षा बच्चों के लिए और उनके अभिभावकों के लिए वरदान साबित होगी। इस मौके पर विद्यालय के स्टॉप समेत सभी ग्रामीण मौजूद रहे।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र