ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वाले को अब हर हाल में देना पड़ेगा टेस्ट,आरटीओ के नए प्लान से दलाल भी होंगे पस्‍त

 ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वाले को अब हर हाल में देना पड़ेगा टेस्ट,आरटीओ के नए प्लान से दलाल भी होंगे पस्‍त



न्यूज़।परिवहन विभाग ने गाड़ी चलाने का टेस्ट सुनिश्चित कराने को स्थाई डीएल की संख्या को घटा दिया है। अब लखनऊ समेत प्रदेश के हर जिले में स्थाई डीएल कम बनेंगे। इसका असर राजधानी के संभागीय परिवहन कार्यालय ट्रांसपोर्टनगर में जहां रोज 276 डीएल बनते थे, अब वहां महज 180 लाइसेंस ही बन पाएंगे।एआरटीओ कार्यालयों में रोज का कोटा अब घटकर आधे से भी कम रह गया है।विभाग की मंशा है कि आए दिन बिना ड्राइविंग टेस्ट लिए लाइसेंस जारी करने की शिकायत मिल रही थीं। इस पर एक आरटीआई भी दाखिल की गई थी। इसे देखते हुए निर्णय लिया गया है कि संभागीय निरीक्षकों के पदों के सापेक्ष जिलों की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। जहां एक आरआई हैं वहां कम से कम 36 और अधिकतम पांच संभागीय निरीक्षकों के पद हैं उन जिलों में अधिकतम 180 डीएल प्रतिदिन बनेंगे। इससे ऑनलाइन परमानेंट डीएल आवेदन करने वालों को टाइम स्लॉट कम मिलेगा। इस संबंध में परिवहन आयुक्त धीरज साहू की ओर से सूबे के सभी एआरटीओ और आरटीओ कार्यालयों को आदेश जारी कर दिए गए हैं।