भू माफियो द्वारा जमीन पर कब्जे को लेकर पीड़ित तीसरे दिन भी बैठे अमरण अनशन पर

 भू माफियो द्वारा जमीन पर कब्जे को लेकर पीड़ित तीसरे  दिन भी बैठे अमरण अनशन पर


कार्रवाई के नाम पर प्रशासन झांक रहा है अगली बबली


पीड़ित वकीलों का कहना है कि दबंग भू माफिया के आगे प्रशासन बौना


बिंदकी फतेहपुर ,


नगर के ललौली रोड स्थित गाटा0 संख्या 1034/4424तथा 1034जो जाफराबाद बाहरी क्षेत्र केसरकारी अभिलेखों में दर्ज है जिस पर दबंग भूमाफिया सलीम हनीफ रेहाना तथा विधायक प्रतिनिधि विपिन पटेल द्वारा उक्त गाटा संख्या पर जबरन कब्जा कर निर्माण कार्य करा रहा था जिसको लेकर पीड़ित पक्ष ने उप जिलाधिकारी से न्याय मांगने की गुहार लगाई परंतु सत्ता पक्ष के दबाव के चलते अधिकारियों द्वारा उन्हें न्याय नहीं दिलाया गया।

 जिसको लेकर पीड़ित मंजूषा देवी राम प्रकाश राम नारायण विद्या यादव अंकित तिवारी आशा तिवारी विवादित भूखंड पर तीसरे दिन भी भूख हड़ताल पर बैठे मौके पर पहुंचकर तहसीलदार गणेश सिंह कोतवाली प्रभारी आशुतोष कुमार सिंह ने अनशन कारियों को आश्वासन दिया कि भू माफिया के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कर देंगे और विवादित भूखंड पर 145 की कार्रवाई की जायेगी परंतु जब पीड़ित भू माफिया के खिलाफ तहरीर देने गया तो पुलिस ने उसे वापस कर दिया और सक्षम अधिकारी का आदेश मांगने लगे ना ही तहसीलदार द्वारा विवादित भूखंड पर 145 की कार्यवाही गई की  जिस पर पीड़ितों ने भू माफियाओं के खिलाफ तीसरे दिन आमरण अनशन पर बैठ कर न्याय की गुहार लगा रहे हैं लंबे समय से चले आ रहे जमीनी विवाद को उप जिलाधिकारी यदि निष्पक्ष रुप से पैमाइश करा कर सरकारी अभिलेखों का मिलान करा ले तो पीड़ितों को न्याय मिल सकता है परंतु सत्ता पक्ष के दबाव में आकर पीड़ितों को न्याय दिलाने से कतरा रही है कुछ भी हो जिस तरह से शासन प्रशासन इन भू माफियाओं को संरक्षण दे रहा है उससे प्रदेश सरकार की भाजपा सरकार को सीधे बट्टा लग रहा है  प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ  भू माफियाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर उन्हें सलाखों के पीछे डालने का आदेश हवा-हवाई साबित हो रहा है   सत्ता पक्ष के दबाव में आकर शासन प्रशासन भू माफियाओं के सामने घुटने टेक रहे है और उल्टे पुलिस पीड़ितों को धारा 144 के तहत मुकदमा लिख कर जेल भेजने की धमकी दी जा रही है कुछ भी हो जिस तरह से पुलिस और राजस्व प्रशासन भू माफियाओं को संरक्षण दे रही है इस तरह के मामले देख कर जनता के बीच में शासन और प्रशासन से न्याय मिलने का भरोसा पूरी तरह से निरर्थक साबित हो रहा है शायद प्रशासन इस विवादित भूखंड की जमीन पर किसी बड़ी घटना का इंतजार कर रही है कुछ भी हो पीड़ित न्याय पाने को लेकर  तीसरे दिन भी पीड़ित आमरण अनशन पर बैठे रहे। उल्लेखनीय है कि उक्त भूमाफिया विपिन पटेल के खिलाफ अधिवक्ता गण शीतेष कुमार तिवारी एवं प्रीयेश कुमार तिवारी पुत्र गण स्वर्गीय श्यामसुंदर तिवारी की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर रखा था उक्त पीड़ित वकीलों ने उप जिलाधिकारी बिंदकी के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य योगी नाथ को शिकायती पत्र भेजा था। परंतु उक्त दबंग भू माफिया विपिन पटेल के विरुद्ध कोई कार्यवाही ना होने से उसके हौसले बुलंद हैं।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
भ्रष्ट अधिशासी अभियंता के रहते नहीं हो सकता है योगी सरकार का सपना साकार- तिवारी
चित्र
राजकीय पॉलिटेक्निक बिंदकी के छात्रों द्वारा जैविक पेंट (गोबरपेंट) का किया गया निर्माण
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र