महिला एवं बच्चों के साथ होने वाली हिंसा की रोकथाम पर तीन दिवसीय सामाजिक वकील कार्यशाला का आयोजन

 महिला एवं बच्चों के साथ होने वाली हिंसा की रोकथाम पर तीन दिवसीय सामाजिक वकील कार्यशाला का आयोजन 



बाँदा संवाददाता।जनसाहस संस्था द्वारा एसएस रेजीडेंसी बांदा उत्तर प्रदेश में महिला एवं बच्चों के साथ होने वाली हिंसा की रोकथाम पर तीन दिवसीय सामाजिक वकील कार्यशाला का आयोजन किया गया

कार्यक्रम की शुरुआत भीमराव अंबेडकर जी प्रतिमा में माल्यार्पण करके की गई ।

जनसाहस संस्था से धर्मेंद्र परमार जी द्वारा जनसाहस का परिचय दिया गया कि जनसाहस संस्था एक सामाजिक संस्था है जो महिलाओं, बच्चों,के साथ होने वाली हिंसा को रोकने और लोंगो को जागरूक करने को लेकर पिछले 20 वर्षो से उत्तरप्रदेश व देश के कई राज्यो में समाज को मुख्य धारा से जोड़ने को लेकर सघन रूप से कार्यरत है । जिसमे संस्था का महिला हेल्पलाइन नंबर 180030002852 है जिसमे पीड़ित सर्वाइवर परिवार अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है जिसके बाद संस्था पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर सर्वाइवर को न्याय दिलाने का कार्य करती है । धर्मेंद्र परमार   द्वारा पोक्सो एक्ट एवम एससी एसटी एक्ट को लेकर चर्चा की गई एवं पुलिस प्रशासन के साथ हमारी संस्था व अन्य विभाग जो महिलाओं और बच्चों के लिए कार्य कर रहे है  तो जनसाहस व अन्य विभाग को साथ मिलकर कार्य करने की जरूरत है ताकि महिलाओ व बच्चों पर होने वाली हिंसा को रोका जा सके । संवाद में महिलाओं , बच्चों के साथ हो रही हिंसा की रोकथाम पर बातचीत की गई एवम संविधान के बारे और मौलिक अधिकार के बारे में विस्तार से बताया गया । संस्था का एक मजदूर हेल्पलाइन नंबर 18002000211 है जिसमे संस्था बंधुआ मजदूरी , न्यूनतम मजदूरी , आदि से संबंधित काम करती है तथा मजदूरों को सरकारी सुविधाओं से जोड़ने का काम करती है । कार्यक्रम में स्टेट कॉर्डिनेटर धर्मेंद्र परमार ,जिला कॉर्डिनेटर सुशील,शिवकुमार  धीरेन्द्र ऐडवोकेट, जाहिद अहमद, प्रतीक्षा,गुड़िया गौतम  आदि मौजूद रहे।