CM योगी बोले- बुंदेलखंड में बनेगा फाइटर प्लेन, एक्सप्रेस-वे पर फर्राटा भरेगा विकास


 झांसी/जालौन: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर बुंदेलखंड की उपेक्षा और दोहन करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे बनने से इस अति पिछड़े क्षेत्र का पूरा विकास होने के साथ-साथ औद्योगिक क्रांति भी आएगी. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर सवार होकर बुंदेलखंड क्षेत्र का विकास फर्राटा भरेगा.


बुंदेलखंड के दौरे पर गये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, ''जब भी भारत में समृद्धि और सुरक्षा की बात होती है तो कुछ लोगों, जिन्हें विकास अच्छा नहीं लगता, के पेट में दर्द होने लगता है और विकास कार्यों में रोड़ा अटकाने का काम शुरू कर देते हैं.'' झांसी के राजकीय इंटर कॉलेज मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए योगी ने तीनों कृषि कानूनों को किसानों के हित में बताया और इस दौरान उन्होंने सोलह सौ करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया.


योगी झांसी पहुंचने से पहले जालौन और ललितपुर में कार्यक्रमों में भाग लिया. बुंदेलखंड के विकास के लिये अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए योगी ने कहा कि यदि आजादी से बाद किसी सरकार ने विकास कार्य किया होता तो आज बुंदेलखंड धरती का स्वर्ग होता. उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्ववर्ती सरकारें विकास कार्यों के मामले में नगण्य रहीं. डिफेंस कॉरिडोर की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के लोगों को गर्व होगा कि आने वाले समय में यहां फाइटर प्लेन तक बनेगा और कॉरिडोर से समग्र विकास होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड में पर्यटन की अपार संभावनाओं को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने भरोसा दिया कि जालौन जिले में यमुना नदी पर बनने वाला पुल सात आठ माह के अंदर तैयार हो जाएगा.


बुंदेलखंड में खनिज संपदा का अपार भंडार- योगी


जालौन से मिली खबर के अनुसार मुख्यमंत्री ने जालौन जिले के कुठौंद विकासखंड के लाडपुर गांव में निर्माणाधीन बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण करने के बाद कहा, "इस क्षेत्र में खनिज संपदा का अपार भंडार है. पूर्व की सरकारों ने यहां की वन संपदा और खनिज संपदा का दोहन तो किया, लेकिन इस क्षेत्र के विकास के बारे में कभी नहीं सोचा." उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार ने इस अति पिछड़े क्षेत्र में एक्सप्रेस-वे का निर्माण कर पूरे क्षेत्र में विकास को नई दिशा दी है. साथ ही इस क्षेत्र में एक्सप्रेस-वे के किनारे और खाली पड़ी किसानों की जमीन का अधिग्रहण कर उद्योग क्षेत्र के तौर पर विकसित किया जाएगा. इससे स्थानीय निवासियों को और अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे.


योगी ने कहा कि जब क्षेत्र के लोगों रोजगार मिलेगा तो क्षेत्र में संपन्नता आएगी. संपन्न होने से नई पीढ़ी शिक्षित भी होगी. भारतीय जनता पार्टी में विकास करने की इच्छाशक्ति मजबूत है, इसलिए देश ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में विकास की आंधी आई है. अक्सर सूखाग्रस्त रहने वाले बुंदेलखंड इलाके में पेयजल की उपलब्धता के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का हर घर को शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य भी है. इसके अलावा कोरोना जैसी महामारी के दौर में भी प्रदेश सरकार ने पूरी मजबूती से काम किया.