लखनऊ एक्सप्रेसवे की टेंडर प्रक्रिया शुरू, सितंबर से होगा निर्माण शुरू

 लखनऊ एक्सप्रेसवे की टेंडर प्रक्रिया शुरू, सितंबर से होगा निर्माण शुरू



न्यूज़।नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने लखनऊ एक्सप्रेसवे की टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए 80 प्रतिशत से ज्यादा लगभग 360 हेक्टेयर जमीन अर्जित कर ली गई है। यह एक्सप्रेसवे लखनऊ में बनी से शुरू होकर ललपुरा, असखेड़ा, नवाबगंज, दही चौकी, मुतर्जानगर होते हुए शुक्लागंज के आजाद चौक के पास तक बनेगा।

इसका निर्माण सितंबर से शुरू करने की तैयारी है। अनुमानित लागत 4733.60 करोड़ रुपये है। पहले यह छह लेन का बनाया जाएगा, लेकिन आसपास इतनी जमीन अर्जित की जा रही है कि भविष्य में इसे आठ लेन का किया जा सके। कानपुर-लखनऊ हाईवे पर यातायात के बढ़ते दबाव को देखते हुए भूतल परिवहन मंत्रालय ने इस योजना को पिछले साल मंजूरी दी थी।

एनएचएआई की लखनऊ इकाई को इसके निर्माण का जिम्मा सौंपा गया है। एनएचएआई ने इगिस इंडिया कंसल्टिंग इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड को कंसल्टेंट नियुक्त कर निर्माण की तैयारियां शुरू कर दी हैं। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएन गिरी के अनुसार इस एक्सप्रेसवे के लिए कुल 450 हेक्टेयर जमीन अर्जित करनी है। शेष जमीन अधिग्रहीत करने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। उच्च स्तरीय समग्र विकास समिति के समन्वयक नीरज श्रीवास्तव ने बताया कि एक्सप्रेसवे के टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो गई है। निर्माण शुरू होने के बाद इसे दो साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

निर्माण शुरू करने में अब कोई बाधा नहीं

किसी भी हाईवे का निर्माण कार्य कम से कम 80 फीसदी जमीन का अधिग्रहण होने पर ही शुरू करने का नियम है। लखनऊ एक्सप्रेसवे के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही एनएचएआई ने मानक के अनुरूप जमीन अधिग्रहण भी कर लिया है। ऐसे में टेंडर फाइनल होते ही ठेकेदार कंपनी काम शुरू कर सकेगी।

प्रस्तावित एक्सप्रेसवे पर एक नजर

लंबाई : 62.755 किलोमीटर

ग्रीन फील्ड : 42.755 किलोमीटर

एलीवेटेड रोड : 11 किलोमीटर

बड़े पुल : 2

लेन-6

जमीन की जरूरत : 450 हेक्टेयर

अनुमानित लागत : 4733.60 करोड़

लखनऊ एक्सप्रेसवे के टेंडर डॉक्यूमेंट तैयार हो गए हैं। इसी महीने के अंत तक टेंडर जारी हो जाएंगे। डेढ़ महीने में टेक्निकल और फाइनेंशियल बिड खोलने के बाद चयनित कंपनी को वर्क ऑर्डर (कार्यादेश) जारी कर अनुबंध कर लिया जाएगा। सितंबर के अंत तक निर्माण शुरू होना है। इसके लिए करीब 80 प्रतिशत जमीन अर्जित कर ली गई है।A. N. गिरी, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
बंदूक के साथ फोटो खिचवाते समय दब गया ट्रिगर, महिला की मौत
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र
आज हम बात करेंगे फूलन देवी के सहादत दिवस के अवसर पर बात करेंगे कि फुलवा से कैसे फूलन बनी फूलन देवी का विस्तृत परिचय
चित्र