योगी सरकार के सपनों को चकनाचूर करने में जुटा है अधिशासी अभियंता रामसनेही

 योगी सरकार के सपनों को चकनाचूर करने में जुटा है अधिशासी अभियंता रामसनेही



विजिलेंस टीम कर रही है जांच फिर भी नहीं आ रही है कोई आंच


विजिलेंस पहले भेजें जेल फिर देखे भ्रष्टाचार का खेल


सजातीय दलालों की दलदल में समाहित हो गया है विद्युत वितरण खंड प्रथम


फतेहपुर। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने अपने बड़े बयान में कहा था कि भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करके दम लूंगा और उसके बड़े बयान का पूरे प्रदेश में असर होता नजर आ रहा है। किंतु इस जनपद में विद्युत वितरण खंड प्रथम के सपा मानसिकता से ग्रसित अधिशासी अभियंता का दो बार गलत कार्यशैली के चलते हो चुका अपमान भी शासन की गलियारे तक पहुंच चुका है। एक माननीय के समर्थकों ने आरोप लगाते हुए अधिशासी अभियंता कार्यालय में पहुंचकर यह कहते हुए कहा था कि सूबे के मुखिया का सपना साकार करने के लिए सपा मानसिकता को त्याग कर जनहित के कार्यों एवं किसान हित में काम करने का अनुरोध किया था। किंतु सपा मानसिकता से ग्रसित अधिशासी अभियंता ने अपना आपा खो दिया था और जैसे आम उपभोक्ता से गैर बदसलूकी से पेश आते थे उसी प्रकार जनप्रतिनिधि के कार्यकर्ताओं से भी पेश आए। जनप्रतिनिधियों का आरोप था कि राजस्व विभाग द्वारा जारी की गई बड़े बकायेदारों की आर.सी को रिश्वत लेकर औने पौने में क्यों निपटाया जा रहा है। इस बात को लेकर अधिशासी अभियंता आग बबूला हो गए और माननीयो के प्रतिनिधियों से गलत बयान बाजी करने लगे। अपने आप को बचाने के लिए शहर कोतवाली में उपरोक्त लोगों के खिलाफ सरकारी अधिकारी दिखाकर मुकदमा लिखे जाने की तहरीर दे दी। किंतु अपनी सपा मानसिकता से ग्रसित होने की बात नहीं बताई है। मालूम रहे कि पूर्व अधिशासी अभियंताओं के चालक रहे विकास को बिना कारण बताओ नोटिस के बाहर का रास्ता दिखा दिया। इतना ही नहीं मानसिकता से ग्रसित होकर बड़ी जाति के मीटर रीडर सुपरवाइजर को हटाकर अनुभवहीन सजातीय को कुबेर पति बनाने के लिए सुपरवाइजर बना दिया। जनपद में विद्युत वितरण खंड प्रथम में पहला ऐसा अधिशासी अभियंता है जिसका कार्यालय में अपशब्दों से भरे बौछार से दो बार अपमान हो चुका है। सपा मानसिकता से ग्रसित अधिशासी अभियंता ने कुबेर पति बनने के लिए योगी सरकार के सारे नियम कानूनों को बलायेताख रखकर खुद की हुकूमत चलाने के लिए शाम 5:00 बजे से रात 10:00 बजे तक कार्यालय खुलवाते हैं। शाम 5:00 बजे के बाद कार्यालय का दरवाजा बंद हो जाता है फिर चलता है गैरकानूनी कानून का खेल। माननीय के प्रतिनिधियों का कहना है कि  सवर्ण विरोधी एवं सपा मानसिकता से ग्रसित अधिशासी अभियंता के रहते योगी सरकार का सपना नहीं हो सकता है साकार।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र