आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत किसानों के लिए खाद्य एवं पोषण कार्यक्रम का किया गया आयोजन

 आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत किसानों के लिए खाद्य एवं पोषण कार्यक्रम का किया गया आयोजन




फतेहपुर।कृषि विज्ञान केन्द्र थरियांव में भा०कृ०अनु०प०-अटारी, कानपुर एवं कुलपति डा0 डी0आर0 सिंह तथा समन्वय/निदेशक प्रसार डा0 ए0के0 सिंह के निर्देश के अनुपालन में आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत किसानों के लिए खाद्य एवं पोषण विषय पर 100 आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों,

कृषकों/ महिला कृषकों को गोष्ठी/प्रदर्शन आयोजित कर प्रशिक्षण दिया गया। 

मुख्य अतिथि श्रीमती शोभा अग्रवाल, अध्यक्ष महिला एकता भाजपा ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। प्रशिक्षण के कोर्स समन्वयक डा0 साधना वैश, वरि० वैज्ञानिक, गृह विज्ञान ने उपस्थित सभी प्रतिभागियों का स्वागत कर कार्यक्रम के उद्देश्य को बताते हुए किसानों को खाद्य एवं पोषण कैसे सुलभ हो उसकी उपयोगिता पर जानकारी दी। साथ ही बताया कि प्रशिक्षण में खाद्य के साथ-साथ पोषण अति आवश्यक है। मुख्य अतिथि ने कहा कि मुझे कृषि विज्ञान केन्द्र थरियांव में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करने का मौका मिला। कार्यकम बहुत ही ज्ञानवर्धक एवं उपयोगी सम्पन्न किया गया। मुझे प्रसन्नता है कि ऐसी जागरूकता से खाद्य एवं पोषण दोनो सुनिश्चित होंगे।

तकनीकी सत्र में डा० साधना वैश ने मानव जीवन में खाद्य एवं पोषण की महत्ता पर प्रतिभागियों को आकर्शित करते हुए खाद्य एवं पोषण हेतु सब्जी, फल सन्तुलित भोजन पोषक थाली, बायोफोर्टीफाइड बीजों के द्वारा सब्जी उत्पादन,खाद्य उत्पादन साथ ही जैव सवंर्धित जो पोषक तत्वों से भरपूर हो उन फसलों को उगाने की सलाह दी। उन्होंने गाजर घास को काटकर जैव उर्वरक के रूप कैसे में उपयोग में लाया जाय पर विस्तृत जानकारी दी।

गुणवत्तायुक्त प्रोटीन का दैनिक आहार में प्रयोग करने को कहा। उन्होनें कुपोषण को दूर

करने के लिए मोटे अनाज जैसे-ज्वार, बाजरा, मण्डवा, कोकून, रागी आदि को अपने आहार में पंजीरी, खिचड़ी, दलिया, मठरी, बर्फी, लड्डू के रूप में उपयोग करने पर जोर दिया। डा0 जगदीश किशोर ने सुरक्षित खाद्यान्न उत्पादन कैसे करें तथा रोग कीट प्रबन्धन हेतु जैविक प्रबन्धन फसल उत्पादन पर जानकारी दी। डा0 देवेन्द्र स्वरूप, वैज्ञानिक, पशुपालन ने दूध के महत्व एवं उपयोगिता के साथ स्वच्छ दूध उत्पादन पर जानकारी दी। डा0 नौशाद आलम ने वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन एवं उपयोग की विस्तृत जानकारी दी। श्रीमती अलका कटियार,

कार्यकम सहायक ने मल्टीग्रेन खाद्यान्न जैसे-दलिया, आटा विषय पर विस्तृत जानकारी दी।

कार्यकम में उपस्थित संगधीय खेती कर रहे प्रगतिशील कृषक अमित श्रीवास्तव ने औषधीय

एवं सगंधीय विषय में बताया। कार्यकम के सफल आयोजन में धनश्याम, कम्प्यूटर प्रोग्रामर

एवं  विवेक दुबे, मौसम प्रेक्षक ने सहयोग प्रदान किया।

Popular posts
पाल समुदायिक उत्थान समिति एवं राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के तत्वाधान में सम्मेलन संपन्न
चित्र
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
मुंबई में धमाल मचा रहे हैं फतेहपुर के शिवार्थ श्रीवास्तव
चित्र
उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार का सुनहरा मौका, चार अक्टूबर को हर जिले में लगेगा अप्रेंटिसशिप मेला
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र