खेल की उपयोगिता

 " खेल की उपयोगिता


"

सदा खेल से पुलकित हो मन, 

खेल से  ही होता पुष्टित तन l

खेल से जीवन- खेल को समझो, 

खेल से ही मिलता स्वास्थ्य-धन l

खेल ने हमको सदा सिखाया, 

मन प्रमुदित औ छरहर काया l

खेल से ही हम नित -नित सीखे, 

हार ,  जीत  में   कैसे    बदले l

खेल से ही हम सीखे हरदम, 

कभी किसी को चोट न दें हम l

मिलकर  ही  हमको  है  रहना, 

कुछ भी हो पर सब कुछ सहना l

दुश्मन  नहीं  दोस्त बनकर के, 

खेल- खेल  में  खेल   खेलना l

जीवन की अनंत अभिलाषा, 

खेल से ही है जीवन -आशा l

खेल ने हमको सदा सिखाया, 

मन प्रमुदित औ छरहर काया l

टीम  भावना   सदा  ही  रखना, 

कभी किसी का अहित न करना l

खेल- खेल से खेल ही खेलो, 

जीवन की हर विपदा झेलो l

खेल में भी जो चोट हैं दे जन, 

उनका कलुषित होता है मन l

खेल ने हँसना- रोना सिखाया, 

पुलकित नयन ह्रदय हर्षाया l

खेल ने हमको सदा सिखाया, 

मन प्रमुदित औ छरहर काया l


रश्मि पाण्डेय ARP मलवां बिंदकी, फतेहपुर

Popular posts
न्यायालय के आदेश पर मुनादी पिटवाकर ललौली थानाध्यक्ष ने आरोपी के घर कुर्की की नोटिस किया चस्पा
चित्र
खेलकूद प्रतियोगिता में रामा डिफेंस एकेडमी ने हासिल किए सबसे ज्यादा पदक।
चित्र
बावनी इमली में लगे ठाकुर जोधा सिंह अटैया के चित्र में अपमानजनक हरकत करने वाले के खिलाफ मुकदमा लिखने के लिए अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने दिया प्रार्थना पत्र
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से फिर हुई है किसान की मौत
चित्र
नर कंकाल ने खोलें दोहरे हत्या का राज, दो गिरफ्तार
चित्र