ओलंपिक जागरूकता रिले संपन्न, देश को खेलों की महाशक्ति बनाने का संकल्प

 ओलंपिक जागरूकता रिले संपन्न, देश को खेलों की महाशक्ति बनाने का संकल्प



लखनऊ।ओलंपिक में भाग ले रहे भारतीय खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए आयोजित टोक्यो ओलंपिक जागरूकता रिले का समापन बुधवार को भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम में किया ग्रया। ये दौड़ राज्य के 51 जिलों से होते हुए 4625 किमी. का सफर करते हुए जब इकाना स्टेडियम पहुंची तो उसका स्वागत मुख्य अतिथि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया। इस समारोह की अध्यक्षता लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया ने की।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि स्वतंत्रदेव सिंह ने बताया कि प्रदेश सरकार खेलों व खिलाड़ियों को सुविधा देने में हमेशा अग्रणी रही है। उन्होंने इस अवसर पर खिलाड़ियों के प्रोत्साहन की योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि मेरठ में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बन रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए हरदम तैयार है। वहीं समारोह की अध्यक्षता करते हुए लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया ने भी अपनी नीतियों में खेलों को प्रोत्साहन देने की बात की।

इकाना स्पोर्ट्स सिटी के मुख्य प्रबंध निदेशक उदय सिन्हा ने गर्मजोशी से सबका स्वागत करते हुए कहा कि इकाना में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल सुविधाओ और हाई परफारमेंस ट्रेनिंग सेंटर के रूप में प्रदेश का ये एक मात्र स्टेडियम है। ये देश के युवा खिलाड़ियों कोे समर्पित संस्थान है और हम सदैव खिलाडियों के लिए तैयार रहेंगे।

रविकांत मिश्रा ने कहा कि भारतीय ओलम्पिक संघ के कोषाध्यक्ष और उत्तर प्रदेश ओलम्पिक संघ के महासचिव डा आनंदेश्वर पाण्डे के नए अभियान खेल चला गांव कि ओर को हम सभी खिलाडी और खेल प्रेमी और सफल बनाएंगे।

इस अवसर पर लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव डा.सैयद रफत जुबैर रिजवी व इकाना के कार्पाेरेट कम्युनिकेशन प्रमुख प्रदीप राय के प्रस्ताव पर मुख्य अतिथि ने सभी खिलाड़ियों को शपथ दिलाई।इस दौरान सभी खेल दिग्गजों व खेल प्रेमियों ने शपथ ली कि हम शपथ लेते है कि हम आगामी ओलंपिक में भारत को विजयी बनाने के लिए तन-मन-धन से गंभीर व सतत प्रयास करेंगे। हम भारत के खेलों में महाशक्ति बनने तक नहीं रूकेंगे। लखनऊ पब्लिक स्कूल और एस आर ग्रुप आफ़ एजुकेशन को सहयोग के लिए आभार दिया।

इस अवसर पर इकाना के कार्पाेरेट कम्युनिकेशन प्रमुख प्रदीप राय ने बताया की इकाना स्पोर्ट्स सिटी में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के विभिन्न खेलो के लिए सम्पूर्ण सुख सुविधाओ से लैस है, जहां एथलेटिक्स, फ़ुटबाल, टेनिस, स्क्वाश, बैडमिंटन, वॉलीबाल तथा काम्बेट खेलो के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाए है। यहां रिहैबिलेशन सेंटर,, डोप टेस्ट एवं बायो मैकेनिक लेबोरेट्री, मीडिया सेंटर, टीवी प्रोडेक्शन सेंटर भी है जल्द ही इकाना स्पोर्ट्स सिटी में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का माल बन रहा है जोकि स्थापत्य कला में अपने आप में प्रदेश के अभिनव प्रयास को प्रदर्शित करेगा।

इस दौरान रिले में खेल जगत फाउंडेशन के संस्थापक रतन गुप्ता, राज्य के सर्वाेच्च खेल सम्मान लक्षमण पुरस्कार एवं राज्य विवेकानंद युवा पुरस्कार विजेता रविकांत मिश्रा स्थाई रिले समन्यवयक रहे। वहीं रिले के पांच सदस्यीय दल में दीपक, शरद, लखन सिंह, लव कुमार शामिल रहे जिन्हें इस दौरान सम्मानित किया गया।ज़िला फुटबॉल एसोसिएशन फतेहपुर के सचिव आसिफ जुबैर को सहयोग के लिए आभार दिया।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के कारागार एवं लोक सेवा प्रबंधन राज्य मंत्री जय कुमार सिंह जैकी, भाजयुमो  प्रदेश अध्यक्ष प्रांशुदत्त द्विवेदी, एमएलसी ई अवनीश सिंह, एनवाईकेएस भारत सरकार के शासी सदस्य शतरुद्र प्रताप सिंह, आईजी रमाकांत गुप्ता, एसआर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चौहान, पूर्व एमएलसी एसपी सिंह, क्षेत्रीय निदेशक एनवाईकेस नन्द कुमार सिंह, उपनिदेशक युवा कल्याण सीपी सिंह, नेहा सिंह, अजीत कुशवाहा, उत्तर प्रदेश ओलंपिक संघ के कोषाध्यक्ष मनीष कक्कड़ ज़िला फुटबॉल एसोसिएशन फतेहपुर के सचिव आसिफ जुबैर के साथ मो. तौहीद, राहुल कुमार, राहुल यादव, एमएल साहू व अन्य मौजूद रहे।

इस ओलंपिक जागरूकता रिले् का आयोजन टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा ले रहे भारतीय दल को प्रोत्साहन व आगामी ओलंपिक के लिए तैयारियों के संकल्प के साथ खेल जगत फाउंडेशन द्वारा उत्तर प्रदेश ओलंपिक संघ, उत्तर प्रदेश स्पेशल ओलम्पिक संघ, उत्तर प्रदेश पैरा ओलंपिक संघ, भारतीय खो खो संघ, खेल विभाग उत्तर प्रदेश, युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल विभाग उत्तर प्रदेश इत्यादि के समर्थन और मार्गदर्शन में हुआ। ये रिले 51 जिलों से होते हुए 4625 किमी की दूरी तय की।

इस रिले की शुरूआत 23 जुलाई को बरेली से प्रारंभ होकर , रामपुर, मुरादाबाद, बिजनौर, मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, बागपत, मेरठ, गाज़ियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, कासगंज, हाथरस, मथुरा, आगरा,  फिरोजाबाद, इटावा, कालपी, औरया, जालौन, झाँसी, महोबा, बांदा, चित्रकूट, हमीरपुर, कानपुर, फतेहपुर, रायबरेली, अमेठी, प्रतापगढ़, प्रयागराज, भदोही, मिर्ज़ापुर, वाराणसी, चंदौली, गाजीपुर, बलिया, आज़मगढ़, मऊ, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीरनगर, बस्ती, अयोध्या, गोंडा, बहराईच, बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई, होते हुए लखनऊ में समाप्त हुई।

Popular posts
पान मसाला विक्रेता के दुकान गोदाम में एसआईबी जीएसटी टीम का छापा
चित्र
राजस्व वसूली एवं सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले के विरुद्ध दर्ज हुई एफ आई आर
चित्र
उत्तर प्रदेश फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021: इंतजार खत्म, योगी सरकार इसी माह से करेगी वितरण
चित्र
एन्टी रोमियो टीमों ने चलाया चेकिंग अभियान
चित्र
कम होने का नाम नहीं ले रही हैं चेयरमैन प्रतिनिधि की मुश्किलें
चित्र