मातृ मृत्यु की सूचना दें मिलेंगे 1000 रूपये

 मातृ मृत्यु की सूचना दें मिलेंगे 1000 रूपये


- मातृ मृत्यु दर में प्रभावी कमी लाने के लिये की गई पहल

फतेहपुर । जिले में अब मातृ मृत्यु दर की सूचना देने वालों को एक हजार रूपये की राशि आनलाइन उनके खाते में भेजी जायेगी। इस आशय की जानकरी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एसपी जौहरी ने दी।

अपर मुख्य चिकितसा अधिकारी नोडल अधिकारी डा0 एसपी जौहरी ने बताया कि जिले के किसी भी क्षेत्र में गर्भवती के प्रसव पूर्व या प्रसव के दौरान होने वाली मौत की सूचना देने वालों को विभाग की ओर से एक हजार रूपये दी जायेगी। प्रदेश व जिले में मृत्यु की सूचना में गुणात्मक सुधार के लिये यह महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। इसी सूचना जिले में कार्यरत 552 आशा व बाल विकास विभाग में कार्यरत 1252 आंगनबाडी कार्यकर्ती या फिर समुदाय का कोई भी व्यक्ति सूचना 104 पर दे सकता हें। सिर्फ टोल फ्री नंबर 104 पर ही यह सूचना मान्य होगी। नंबर पर व्यक्ति को महिला का नाम, आयु पति का नाम और घर का पता बताना होगा। प्रथम सूचना देने वाले व्यक्ति को यह धनराशि उसके बैंक खाते में आनलाइन भेज दी जायेेगी।

जिला कार्यकम प्रबंधक लालचंद्र ने बताया कि मातृ मृत्यु दर में प्रभावी कमी लाने के लिये यह पहल की गई है। मातृ मृत्यु की सूचना मिलने पर स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात प्रभारी चिकित्साधिकारी व डा के द्वारा एक सप्ताह के अंदर मौत के कारण सहित अपनी रिपोर्ट को मुख्य चिकितसाधिकारी कार्यालय को प्राप्त करानी होगी। स्वास्थ्य मिशन के ने जानकारी दी कि इस समय सुमन योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को कई लाभ दिये जा रहे है। मातृ मृत्यु व नवजात शिशु की मृत्यु में कमी लाने के लिये विभाग स्तर से हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

-------------------------





जनपद स्तर पर आज मनेगा ‘आयुष्मान भारत दिवस’

- जनप्रतिनिधियों के जरिये लाभार्थियों को मिलेगा आयुष्मान कार्ड

- विशेष उपलब्धि वाले अस्पताल के प्रभारी को मिलेगा प्रशस्ति पत्र

- योजना के तहत उपचारित साझा करेंगे अनुभव, सम्मानित भी होंगे

फतेहपुर। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना वृहस्पतिवार (23 सितम्बर) को तीन साल पूरे करने जा रही है। इसके उपलक्ष्य में जनपद स्तर पर वृहस्पतिवार को ‘आयुष्मान भारत दिवस’ का आयोजन किया जायेगा। इसके माध्यम से योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश अपर मुख्य सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने दिए हैं । स्टेट एजेंसी फॉर कम्प्रेहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस एंड इंटिग्रेटेड सर्विसेज (साचीज) की मुख्य कार्यपालक अधिकारी संगीता सिंह ने इस सम्बन्ध में प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र भी भेजा है।    

सीएमओ डा0 राजेंद्र सिंह ने बताया कि आयुष्मान भारत दिवस पर योजना के तीन साल के सफ़र और आगामी रणनीतियों पर जनपद के प्रशासनिक अधिकारी, योजना के नोडल अधिकारी व अन्य स्टेक होल्डर्स परिचर्चा के माध्यम से मंथन करेंगे। योजना के प्रति जागरूकता लाने के उपायों पर चर्चा होगी और अधिक से अधिक पात्र लोगों को योजना से जोड़ने पर भी विचार होगा। इसके अलावा इस दिवस पर जनप्रतिनिधियों की सहभागिता बढ़ाने पर भी जोर रहेगा। लघु समारोह आयोजित कर जनप्रतिनिधियों के माध्यम से 10 लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा। इन 10 चिन्हित लाभार्थियों के सत्यापन के बाद उनके आयुष्मान कार्ड का ‘प्रोटोटाइप कटआउट’ बनवाकर जनप्रतिनिधियों के माध्यम से लाभार्थियों को दिलवाया जायेगा। समारोह में आस-पास के गाँवों व वार्डों से लक्षित लाभार्थियों को आमंत्रित कर योजना के बारे में विस्तार से अवगत कराया जायेगा।

विशेष उपलब्धि वाले अस्पताल को मिलेगा प्रशस्ति पत्र --

आयुष्मान भारत योजना के तहत आबद्ध जिले के सरकारी व निजी क्षेत्र के उस अस्पताल को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा, जिसने 31 अगस्त 2021 तक सबसे अधिक योजना के लाभार्थियों का उपचार किया हो। समारोह में चिन्हित ऐसे अस्पताल के प्रभारी को जिलाधिकारी के माध्यम से प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जायेगा। अधिकतम उपलब्धि वाले अस्पतालों की सूची साचीज द्वारा जनपदों को उपलब्ध करायी गयी है। इसके अलावा योजना के तहत टर्शियरी केयर अथवा किसी गंभीर बीमारी के उपचारित 4-5 लाभार्थियों को चिन्हित कर समारोह में आमंत्रित करने को कहा गया है। समारोह में उनका फीडबैक (अनुभव) लिया जाए और उन्हें सम्मानित भी किया जाए। समारोह स्थल पर योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार सामग्री का भी प्रदर्शन किया जाएगा। बैनर, पोस्टर, होर्डिंग, स्टैंडी, फ्लेक्स बोर्ड आदि के माध्यमों से आयुष्मान योजना के बारे में और आबद्ध अस्पतालों की सूची के बारे में जानकारी पहुंचाई जायेगी।