ग्रामीण ने पंचायत सचिव पर आवास के नाम पर धन उगाही का लगाया आरोप।

 ग्रामीण ने पंचायत सचिव पर आवास के नाम पर धन उगाही का लगाया आरोप।



संवाददाता बाँदा :- एक तरफ जहां देश व प्रदेश की सरकार गरीब आवाम को प्रधानमंत्री आवास के नाम पर पक्का आशियाना मुहैया कराकर उन्हें हर संभव लाभ देने की बात करती है। वही दूसरी तरफ इस योजना को अमलीजामा पहनाने में लगे अधिकारी व कर्मचारियों की लापरवाही से इस योजना पर ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है। क्योंकि मुक्त में मिलने वाली आवास व शौचालय योजना के लिए भोली-भाली जनता से अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा जमकर धन उगाही की जा रही है।


पूरा मामला  बाँदा जनपद के विकासखंड बिसंडा के गांव अमवा का है जहां प्रधानमंत्री आवास व शौचालय चयन में जमकर धन उगाही की बात सामने आ रही है। इस गांव के निवासी युवक अमजद खान पुत्र कल्लू खान ने ग्राम पंचायत सचिव रामदास कुशवाहा पर रुपये लेने का आरोप लगाते हुए उच्च अधिकारियों से शिकायती पत्र देकर जांच की मांग की है। उसने बताया कि पंचायत सचिव द्वारा उसे आवास का लाभ देने के एवज में ₹30000 की मांग की गई और पूरा रुपया न दे पाने पर उसे अपात्र घोषित कर दिया गया है।युवक अमजद ने बताया कि उसने बड़े भाई से कर्ज लेकर ₹15000 सचिव को दिया तथा पूरी रकम ना दे पाने के कारण सचिव ने उसे पात्रता सूची से बेदखल कर दिया।वह पांच भाइयों व तीन बहनों के साथ कच्चे घरों में रहने को मजबूर है।बरसात में उसका एक घर गिर भी गया है मेहनत मजदूरी करके किसी प्रकार से गुजर बसर कर रहा है।