बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी से आज प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने 6 घंटे तक पूछताछ की बता दें कि गबन और अकूत संपत्ति के मामले में ईडी ने मुख्तार अंसारी पर 3 केस दर्ज किए हुए हैं ।

 बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी से आज प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने 6 घंटे तक पूछताछ की बता दें कि गबन और अकूत संपत्ति के मामले में ईडी ने मुख्तार अंसारी पर 3 केस दर्ज किए हुए हैं ।



संवाददाता बाँदा :-  ईडी की प्रयागराज यूनिट में दर्ज मुकदमे में करोड़ों की अवैध संपत्ति अर्जित करने को आधार बनाया गया है। इसमें जिन तीन मुकदमों को आधार बनाया गया है उसमें से एक सरकारी जमीन पर कब्जे का मामला है। आरोप है कि इस सरकारी जमीन पर कब्जा कर मुख्तार ने सरकार से ही डेढ़ करोड़ का किराया वूसला। मामला संज्ञान में आने के बाद पिछले साल मऊ जिला प्रशासन ने करोड़ों रुपये के इस गोदाम को सीज करते हुए मुख्तार की पत्नी, बच्चों समेत पांच के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। मुख्तार के अलावा ईडी उसके बच्चों उमर और अब्बास समेत करीबी बृजनाथ यादव, संजय सागर और आनंद की संपत्तियों को लेकर भी जांच शुरू कर रही है। वहीं एक अन्य मामले में मुख्तार अंसारी पर विधायक रहते हुए विधायक निधि के नाम पर भवन निर्माण के लिए रूपया निकाला गया। लेकिन वहां किसी भी तरह का निर्माण नहीं पाया गया। बल्कि वहां केले की खेती पाई गई। इस तरह के तीन मामले मुख्तार अंसारी और उनकी पत्नी पर दर्ज है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इन्हीं सब अकूत संपत्ति के मामले में बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी से प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने 6 घंटे तक पूछताछ की है।