एक किलो गांजा के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

 एक किलो गांजा के साथ अभियुक्त गिरफ्तार



फतेहपुर। सुल्तानपुर घोष थाना पुलिस ने एक अभियुक्त को एक किलो गांजा के साथ गिरफ्तार किया है। वहीं खागा पुलिस ने भी एक पुराने हिस्ट्रीशीटर को एक किलो गांजा व दो सुतली बम के साथ गिरफ्तार कर एनडीपीसी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।  थाना प्रभारी राज किशोर ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर रात्रि में वाहन चेकिंग के दौरान चौकी चौराहे के पास एक अभियुक्त को एक किलो गांजे के साथ दबोचा गया आरोपी ने बताया कि वह गांजा पीने के साथ बेचता भी है। उसने बताया कि वो ये नशीला पदार्थ रायबरेली से नाव के द्वारा लेकर आया था। जिसे वह बेचने के लिए ले जा रहा था। तभी सुल्तानपुर घोष पुलिस में गिरफ्तार कर लिया। बताते चलें कि गांजे को लेकर एक हफ्ते से लगातार सोशल मीडिया में खबर चल रही थी जिसको संज्ञान में लेते हुए सुल्तानपुर घोष पुलिस व खागा पुलिस ने कठोर कदम उठाया और लगातार  छापेमारी करते रहे जिसके दौरान कल रात में पुलिस ने अलग- अलग स्थानों से  एक- एक तस्कर को पकड़ने में सफलता हासिल हुई। अभी हाल ही में गांजे को लेकर सोशल मीडिया में कई दिनों से खबर प्रसारित हो रही थी बता दें कि ऐसे ही खागा क्षेत्र के और भी सेंटरों में भी गांजे की तस्करी काफी तेजी से हो रही है। खागा पुलिस ने अभी अपनी सम्पूर्ण आंखें नहीं खोली हैं लगातार हो रहे इस गोरखधंधे से लोग उसकी आदत के काफी शुमार होते जा रहे हैं। अगर जल्द ही प्रशासन ने इसमें रोक नहीं लगाई तो जल्द ही यह गोरख धंधा युवाओं को बर्बाद कर देगा। तहसील क्षेत्र में गांजे की हो रही तस्करी से नए युवा इसकी गिरफ्त में आते जा रहे हैं। जिसमें  कई जगहों पर अवैध तस्करी का मामला सामने आया था। जिसको सोशल मीडिया पर बहुत जोर शोर से द्वारा किया गया था। मामले में थाना प्रभारी राजकिशोर ने बताया कि इसके अलावा और कई जगह छापेमारी की जा रही है जल्द ही इसमें संलिप्त तस्करों को पकड़ा जाएगा।

Popular posts
सदर सीट से प्रमोद द्विवेदी को चुनाव लड़ा सकती हैं भाजपा
चित्र
केशव मौर्या के भाजपा से प्रत्यासी घोषित होते ही समर्थकों ने दागे पटाखे,बांटी मिठाई
चित्र
मकरस्क्रान्ति त्यौहार के शुभ अवसर पर किशनपुर में लगा ऐतिहासिक मेला
चित्र
दारा सिंह चौहान के इस्तीफे से क्या पड़ सकता है सियासत पर बड़ा फर्क
चित्र
कोर्रा कनक किशोरी हत्याकांड में ललौली पुलिस ने किया खुलासा सगा भाई ही निकला हत्यारा।
चित्र