अंजना भैरव व कूरा में बिन बोरी धान खरीद बंद, किसान परेशान

 अंजना भैरव व कूरा में बिन बोरी धान खरीद बंद, किसान परेशान



मिन्नतों के बाद कटौती पर बिक रहा धान



फतेहपुर। विजईपुर क्षेत्र के साधन सहकारी समिति अंजना भैरव और कूरा नैफेड धान क्रय केंद्र में बोरी ना होने से कई दिनों से धान तौल बंद है। जहां कुछ किसान अपना धान मन्नतों के बाद निजी बोरी और कटौती की शर्त पर तौल करा रहे है। जिम्मेदार पूरी तरह से बेखबर है। क्षेत्र में कुल चार सरकारी धान क्रय केंद्र खोले गए हैं। जहां किशनपुर नवीन मंडी विपणन शाखा के अतिरिक्त किसी केन्द्र पर नियमित तौल नहीं हो रही है। जिससे क्षेत्रीय किसानों का धान समय पर नहीं बिक रहा है। शुक्रवार किशनपुर मण्डी और साधन सहकारी समिति अंजना भैरव सहित कूरा नैफेड धान क्रय केंद्र की पड़ताल की गई, तो सरकारी व्यवस्थाओं की पोल खुल गई। जहां किशनपुर विपणन शाखा में दो दर्जन मजदूरों से डबल कांटा लगाकर तेजी से तौल शुरू थी परंतु अंजना भैरव साधन सहकारी समिति पहुंचे तो करीब दस दिन से बोरी न होने के कारण तौल बंद थी। जहां केंद्र में सन्नाटा पसरा था, केंद्र प्रभारी राजेंद्र कुमार मिश्रा अकेले रजिस्टर दुरुस्त कर रहे थे। तौल बंद होने की बात पूछने पर मिल से बोरी न मिलने की बात कही। जहां कुछ देर बाद कुछ किसान आ पहुंचे और तौल न होने पर केन्द्र प्रभारी से बात विवाद करने लगे तब केन्द्र प्रभारी ने अपना दुखड़ा सुनाया और बताया कि करीब 10 दिन से बोरी नहीं मिल रही है, कैसे धान खरीद करें। रोज मिलर द्वारा आजकल का आश्वासन दिया जाता है। पर बोरी नहीं मिल रही, हमारी क्या गलती है। बोरी लेने आज फिर गाड़ी भेजी गई है, बोरी आने के बाद कल से तौल कराएंगे। तब बहुत समझाने के बाद किसान शांत होकर लौट गए। जिसके बाद कूरा धान केंद्र की पड़ताल की गई, तो वहां पर किसान बोरियों पर बैठे झपकी ले रहे थे, प्रभारी रजिस्टर दुरूस्त कर रहे थे, तौल बंद थी। यहां पर भी वही दुखड़ा था, साहब बोरी नहीं है। कई दिन से गाड़ी भेजी गई है। जहां कुछ किसान अपना धान किसी भी हालत में बेचने के लिए छह किलो प्रति कुंटल की कटौती की बात कर रहे थे। यहां भी केंद्र प्रभारी अनुराग सिंह ने सरकारी सिस्टम की पोल खोलते हुए बताया कि करीब चार दिन से बोरी नहीं है। मिलर रोज आश्वासन दे रहे हैं। आज गाड़ी भेजी गई है। अब तक किसी भी किसान का भुगतान नहीं हुआ।