जिले में मनाया गया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस


  

जिले में मनाया गया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस

- जांच के दौरान चिन्हित हुई हाई रिस्क प्रेगनेंसी महिलायें 

फतेहपुर। जिले में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस मनाया गया। जिला महिला चिकित्सालय समेत प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आने वाली गर्भवती महिलाओं की जांच की गई। जिला महिला चिकित्सालय में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का आयोजन किया गया। कैंप में हाई रिस्क प्रेगनेंसी चिन्हित की गई। महिला सीएमएस डा0 रेखारानी ने बताया कि उच्च जोखिम वाली महिलाओं को प्रशिक्षित चिकित्सकों की ओर से प्रसव पूर्व जांच कराई जाती है, जिससे कि समय रहते इसका पता लगाकर, इससे होने वाले खतरों से गर्भवती को बचाया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि गर्भवती किसी परेशानी में कतई न घबराएं वह स्वास्थ्य केंद्रों पर नियमित रूप से जांच और टीकाकरण के लिए आएं, जिससे उनकी परेशानी को समय से दूर किया जा सके। उन्होंने बताया कि हर माह की नौ तारीख को उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाओं को चिन्हित करने को लेकर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत आयोजन किया जाता है। इस दौरान गर्भवती का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनके हिमोग्लोबिन, ब्लड प्रेशर, कुपोषण, यूरिन आदि जांचे की गई। इस मौके पर पहली बार गर्भवती हुई महिलाओं को चिन्हित कर प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत पंजीकरण किया गया। कैंप में आई सथरियांव की आराधना ने बताया कि उनकी तीन महीने की गर्भवस्था है। जिला अस्पताल में बेहतर जांच और इलाज हो रहा है। देवीगंज की रहने वाली शोभा देवी ने बताया कि सात महीने की प्रेगनेंसी है डाक्टर की सलाह पर नियमित जांच और दवायें ले रहे हैं। इसी प्रकार खागा, बिंदकी, जहानाबाद, अमौली, बहुआ, गोपालगंज, असोथर, हसवा स्वास्थ्य केंद्रों में गर्भवती महिलाओं की जांच की गई। 

      नोडल अधिकारी एसीएमओ आरसीएच डा एसपी जौहरी ने बताया- विभाग चाहता है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनाए जननी सुरक्षा योजना आदि का लाभ सभी लाभार्थी महिलाओं को मिले। इसके लिए बैंकों के माध्यम से प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस पर महिलाओं के खाते खुलवाए गये। मुख्य रूप से संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने और मातृ. शिशु मृत्युदर को कम करने के उद्देश्य से इस दिवस का आयोजन किया जाता है। इस दिन हर गर्भवती की पांच जांच. ब्लड प्रेशर, ब्लड टेस्ट,यूरिन टेस्ट, हीमोग्लोबिन जांच और अल्ट्रासाउंड निशुल्क किया जाता है। उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाओं की पहचान कर उन्हें उच्च चिकित्सा केन्द्रों पर रेफर किया जाता है। जिला सलाहकार मातृ स्वास्थ्य आलोक कुमार ने बताया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस पर दूसरी व तीसरी तिमाही की गर्भवती पर फोकस किया गया। इसमें उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली गर्भवती को चिन्हित किया गया। उनकी स्थिति के हिसाब से उन्हें उच्च स्वास्थ्य केन्द्र पर रेफर किया जाएगा।

------------------------------