निरंकुश लकड़ी माफियाओं के चलते जगह जगह आधुनिक मशीनें हरे पेड़ों को कर रही जमींदोज

 निरंकुश लकड़ी माफियाओं के चलते जगह जगह आधुनिक मशीनें हरे पेड़ों को कर रही जमींदोज 



मुरादीपुर, गोपालगंज, काछिनखेडा, कांकराबाद आधा दर्जन से अधिक पेडों की कटान से पर्यावरण का क्षरण 


सेटिंग बाज अधिकारियों नें  सूचना के बावजूद नहीं ली सुध 


डीएफओ की सूचना पर वन  रेंज के जिम्मेदारों ने कागजी कोरम पूरा कर की खानापूर्ति


फतेहपुर। जनपद में पर्यावरण क्षरण के चलते दिन प्रतिदिन कल्यानपुर थाना क्षेत्र के विभिन्न गांव व मजरों में हरे पेड़ों पर आधुनिक मशीन के सहारे धड़ल्ले से होती कटान के चलते आम जनजीवन के साथ जीव जंतु पशु पक्षी भी प्रभावित हो रहे हैं। सोमवार को कल्यानपुर थाना क्षेत्र के मुरादीपुर स्थित बाग में 5 महुआ के पेड़ों की क्रय विक्रय के दौरान 4 पेड़ों की कटान, कांकराबाद स्थित एक भाग में दो नीम के पेड़ों की कटान, कातिल खेड़ा गांव में आबादी के बीच स्थित एक नीम के पेड़, गोपालगंज स्थित एक महुआ के पेड़ की कटान नें समुचित सिस्टम की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया। सेटिंग बाज व वन विभाग ऑफिस की गणेश परिक्रमा दिनभर करने वाले निरंकुश लकड़ी माफियाओं पर कार्रवाई ना होने से समूचे सिस्टम को कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया। इस बावत फतेहपुर डीएफओ ने बताया कि हरे पेड़ों की कटान होना गंभीर विषय है वन रेंज बिंदकी की टीम भेजकर कानूनी विधिक कार्रवाई पर लगाम लगाई जाएगी।