राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने नशा मुक्ति और यातायात सुरक्षा के प्रति जागरूक किया

 राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने नशा मुक्ति और यातायात सुरक्षा के प्रति जागरूक किया



फतेहपुर।प्राथमिक विद्यालय घनश्यामपुर में स्व: दिलीप कुमार स्मारक महाविद्यालय कोड़ा जहानाबाद फतेहपुर की राष्ट्रीय सेवा योजना की प्रथम इकाई के विशेष शिविर के छठवें  दिन प्रथम पाली में स्वयंसेवकों द्वारा नशा मुक्ति के लिए ग्रामीण वासियों संदेश दिया कि नशा एक गंभीर समाजिक बुराई है। नशा एक ऐसी बुराई है, जिससे इंसान का अनमोल जीवन समय से पहले ही मौत का शिकार हो जाता है । जहरीले और नशीले पदार्थो के सेवन से व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक हानि पहुंचानें के साथ ही इससे सामाजिक वातावरण भी प्रदूषित होता है। इसके साथ साथ गृह क्लेश और मार पिटाई,

अब तो छोड़ो ये नशे की लत भाई। जो नशे को गले लगाता है।वो मौत को पास में पाता है।" नारे लगाकर ग्रामवासियों को जागरूक किया। इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी डॉ आफताब अहमद ने बताया कि आज का युवा शराब और हेरोइन जैसे मादक पदार्थो का नशा ही नहीं बल्कि कुछ दवाओं का भी इस्तेमाल नशे के रूप में कर रहा है। इस आसुरी प्रवृत्ति को समाप्त करना परमावश्यक है। आज द्वितीय पाली में  स्वयं सेवकों/सेविकाओं ने मुख्य सड़क पर जाकर हेलमेट वा बेल्ट के लिए वाहन चालकों को प्रोत्साहित किया तथा यातायात नियमों के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर महाविद्यालय के शिक्षक डॉ विनेश कुमार सचान, अजीत कुमार, स्मृति सचान, अमृता जौहरी , प्राथमिक विद्यालय घनश्यामपुर के शिक्षकगण तथा कार्यक्रम में प्रभागी श्रेया, नैनिका, तान्या, रिया, स्वेता, तान्या यादव, आराधना, प्रतिभा, आरती, मुस्कान, हर्ष उत्तम,योगेश कुमार, प्रखर ओमर आदि उपस्थित रहे।