बुंदेलखंड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष राजा बुंदेला पहुंचे बांदा

 बुंदेलखंड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष राजा बुंदेला पहुंचे बांदा



बाँदा संवाददाता। एग्रीकल्चर विश्वविद्यालय बांदा में उन्होंने बताया कि आज 12वा स्थापना दिवस था

इसी दौरान वाइस चांसलर वहां के एडमनेशन स्टॉप के साथ बुंदेलखंड और खासकर कर बांदा के लिए बड़ी-बड़ी 45 स्कीमों पर चर्चा हुई जो बुंदेलखंड विकास बोर्ड के तहत है जिससे बुंदेलखंड के लिए लाभदायक होगा

यहां यूनिवर्सिटी कोड टूरिस्ट का सेंटर खोला जाएगा ।टूरिस्ट वहां को यहां का बुंदेली खाना मिले जो यहां की उपजाऊ फसलों से बना हो बुंदेलखंड वाइब्रेंट के लिए दो तीन सालों से प्रयासरत हूं बुंदेलखंड को जरूरत है बड़े बड़े उद्योगों की उसके लिए यहां के बड़े-बड़े उद्योग पतियों को लाने का प्रयास किया जा रहा है जैसे अंबानी अदानी टाटा बिरला डालमिया उसके लिए बड़ी जगह नहीं मिल पा रही थी झांसी में जगह है पर वहां सुविधा नहीं मिल पा रही थी यहां की यूनिवर्सिटी 1000 एकड़ में है यह अच्छा है की तीन चार महीने में चित्रकूट एयरपोर्ट शुरू हो जाएगा बांदा के लिए नेशनल नहीं इंटरनेशनल लेवल पर यह बार खत्म हो जाएगा।

तो उद्योगपतियों को बुलाकर जब यहां पर उन्हें यह दिखाया जाएगा अब यह डाकू लुटेरा और सपेरा वाला बुंदेलखंड नहीं अब यहां बंदूक लाठी नहीं है अब कल्चर भाषा सभ्यता का है तो निश्चित बुंदेलखंड का विकास होगा

ऐसे हमने बांदा के लिए स्पोर्ट कंपलेक्स सिनेमा फिल्म सेंटर के साथ-साथ यूनिवर्सिटी का भरपूर उपयोग करेंगे वहां केबीसी तैयार हैं उन्होंने ऑन रिकॉर्ड कहा है हमारे यहां 1000 एकड़ की जमीन पड़ी है बुजुर्ग किसान अपने परिवार के साथ यहां आकर रहना चाहे उसे रहने के लिए खेत खलियान दे रहे हैं खुद भी खाए अपने परिवार को खिलाएं और यहां की जमीन को उपजाऊ बनाए।पत्रकारों के लिए एक अच्छी खुशखबरी देते हुए उन्होंने बताया कि हर जिले में पत्रकार भवन पत्रकारपुरम है मेरी कोशिश है कि अगर नगर पालिका बांदा पत्रकारपुरम के लिए जमीन देती है तो उसे  मुख्यमंत्री सूचना प्रसारण मंत्री से कह कर के आप के इन्फ्राट्रक्चर आपके फर्नीचर भवन व उससे जरूरी चीजें लाने के लिए अपनी दम लगा दूंगा और यह संभव है उरई में हमने यह करवाया है

पत्रकारों के लिए कहा बांदा एक ऐतिहासिक नगर है यहां के लोगों को जानना चाहिए यहां के पत्रकारों को भी सम्मान मिलना चाहिए इधर-उधर रेस्टोरेंट होटल और लोगों के घरों में जाकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हैं जो ठीक नहीं है अपने पत्रकार भवन में बुलाकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे जिससे पत्रकारों का मान सम्मान बढ़ेगा और हमें भी मान सम्मान मिलेगा