शादी का दबाव बनाने पर दो सगे भाइयों ने अनीता की कर दी थी बलीपुर गांव के पास हत्या: अपर पुलिस अधीक्षक

 शादी का दबाव बनाने पर दो सगे भाइयों ने अनीता की कर दी थी बलीपुर गांव के पास हत्या: अपर पुलिस अधीक्षक



अनीता और अभिमन्यु के बीच फेसबुक के माध्यम से जुड़ गए थे प्रेम प्रसंग के तार


नहीं हुआ बेड़ापार तो कर दिया हत्या का वार


सबसे ज्यादा घटना का खुलासा करने वाले थाना अध्यक्ष की प्रशंसा करते नहीं थक रहे पुलिस अधिकारी


थानाध्यक्ष ने इसमें दिखाई दिलदारी अब चकाशकरन की घटना के खुलासे की है बारी


फतेहपुर। जनपद में ईमानदार पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत गाजीपुर पुलिस ने जबरदस्त सफलता हासिल करते हुए दो सगे भाई हत्या अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में प्रयोग किए गए ट्रैक्टर को भी बरामद कर लिया है जानकारी के अनुसार गाजीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत बलीपुर गांव के समीप पुलिस ने हत्या युक्त एक अज्ञात युवती का शव बरामद किया था लगभग 10 दिन के बाद थाना अध्यक्ष संगम लाल प्रजापति ने कड़ी मशक्कत के बाद शिनाख्त करवाने में कामयाबी हासिल की थी। घटना का खुलासा करते हुए आज अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि जहानाबाद थाना क्षेत्र के गोकुलपुर गांव निवासी कुंवर लाल निषाद की पुत्री अनीता का बांदा जनपद के तिंदवारी थाना क्षेत्र के गोखरही गांव निवासी अभिमन्यु उर्फ अजीत पुत्र कामता ठाकुर से फेसबुक के माध्यम से तालुकात हो गए थे जिस पर अनीता उपरोक्त प्रेमी के ऊपर शादी करने का दबाव बनाने लगी थी। अनीता से छुटकारा पाने के लिए अभिमन्यु ने अनीता को बलीपुर गांव के समीप बुलाकर अपने भाई अमित उर्फ मुखिया के सहयोग से हत्या कर दी थी और शिनाख्त मिटाने के लिए अनीता के चेहरे पर ट्रैक्टर का पहिया चढ़ाकर कुचल दिया था पर हत्यारों को इस बात की शायद जानकारी नहीं थी कि कानून के हाथ कितने लंबे हैं और खाकी की गिरफ्त से बच पाना बहुत मुश्किल है। हत्या अभियुक्त ललौली थाना क्षेत्र के मूसेपुर गांव से भागने की फिराक में किसी वाहन का इंतजार कर रहे थे तभी गाजीपुर थाना अध्यक्ष के खास मुखबिर ने सूचना दिया कि अनीता के उपरोक्त दोनों सगे भाई हत्यारे कहीं बाहर भागने की फिराक में खड़े हुए हैं सूचना मिलते ही थाना अध्यक्ष अपने सहयोगी उप निरीक्षक दिनेश कुमार, हे0 का0 राम आसरे गुप्ता, का0 नरेश कुमार के अलावा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर जाकर चारों ओर से घेराबंदी करते हुए दोनों सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया और अभियुक्तों की निशानदेही पर हत्या में प्रयोग किए गए ट्रैक्टर को भी बरामद कर लिया है। थाना अध्यक्ष की इस बेहतर कार्यशैली की सराहना करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक और क्षेत्राधिकारी जाफरगंज नहीं थक रहे।