योगी सरकार के मंत्रियों में काम का बंटवारा, जानें- किसे क्या मिली जिम्मेदारी?

 योगी सरकार के मंत्रियों में काम का बंटवारा, जानें- किसे क्या मिली जिम्मेदारी?



न्यूज़।योगी आदित्यनाथ सरकार 2.0 की टीम के किस सदस्य को कौन सी जिम्मेदारी मिलेगी, अब यह तय हो गया है। शपथग्रहण के तीन दिन बाद मंत्रियों को विभागों का बंटवारा हो गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे अधिक 34 विभाग अपने पास रखे हैं। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को ग्राम विकास विभाग और उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिपरिषद के साथ 25 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राजधानी के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में योगी सरकार 2.0 का ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह हुआ। मुख्यमंत्री, दो उपमुख्यमंत्री सहित 19 कैबिनेट मंत्री, 14 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 20 राज्यमंत्री इस मंत्रिमंडल में शामिल किए गए हैं। अब सोमवार को योगी कैबिनेट के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी हो गया।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गृह, आवास एवं शहरी नियोजन, राज्य संपत्ति समेत 34 विभागों की जिम्मेदारी अपने पास रखी है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को ग्राम विकास विभाग के साथ ग्रामीण अभियंत्रण, मनोरंजन कर समेत कुल छह विभागों की जिम्मेदारी दी गई है। इसी प्रकार उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को चिकित्सा शिक्षा और चिकित्सा स्वास्थ्य समेत कुल तीन विभाग सौंपे गए हैं।


मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री व मंत्रियों का कार्य विभाजन


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ : नियुक्ति, कार्मिक, गृह, सतर्कता, आवास एवं शहरी नियोजन, राजस्व, खाद्य एवं रसद, नागरिक आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन, भूतत्व एवं खनिकर्म, अर्थ एवं संख्या, राज्य कर एवं निबंधन, सामान्य प्रशासन, सचिवालय प्रशासन, गोपन, सूचना, निर्वाचन, संस्थागत वित्त, नियोजन, राज्य संपत्ति, उप्र पुनर्गठन समन्वय, प्रशासनिक सुधार, कार्यक्रम कार्यान्वयन, अवस्थापना, भाषा, अभाव सहायता एवं पुनर्वास, लोक सेवा प्रबंधन, किराया नियंत्रण, प्रोटोकाल, सैनिक कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल, नागरिक उड्डयन, न्याय एवं विधायी विभाग।


उप मुख्यमंत्री


1- केशव प्रसाद मौर्य : ग्राम्य विकास एवं समग्र ग्राम विकास, ग्रामीण अभियंत्रण, खाद्य प्रसंस्करण, मनोरंजन कर, सार्वजनिक उद्यम, राष्ट्रीय एकीकरण।

2- ब्रजेश पाठक : चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण।


कैबिनेट मंत्री


1- सुरेश कुमार खन्ना : वित्त, संसदीय कार्य।

2- सूर्य प्रताप शाही : कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान।

3- स्वतंत्र देव सिंह : जल शक्ति, नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति, सिंचाई एवं जल संसाधन, सिंचाई (यांत्रिक), लघु सिंचाई, परती भूमि विकास, बाढ़ नियंत्रण।


 4- बेबी रानी मौर्य : महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार।

5- लक्ष्मी नारायण चौधरी : गन्ना विकास, चीनी मिलें।

6- जयवीर सिंह : पर्यटन एवं संस्कृति।

7- धर्मपाल सिंह : पशुधन, दुग्ध विकास, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज, नागरिक सुरक्षा।

8- नंद गोपाल गुप्ता 'नंदी' : औद्योगिक विकास, निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआइ, निवेश प्रोत्साहन।

9- भूपेन्द्र सिंह चौधरी : पंचायती राज।

10- अनिल राजभर : श्रम एवं सेवायोजन, समन्वय।

11- जितिन प्रसाद : लोक निर्माण।

12- राकेश सचान : सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग।

13- अरविन्द कुमार शर्मा : नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन, ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत।

14- योगेन्द्र उपाध्याय : उच्च शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी।

15- आशीष पटेल : प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बाट माप।

16- संजय निषाद : मत्स्य।


राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)



1- नितिन अग्रवाल : आबकारी एवं मद्य निषेध।

2- कपिल देव अग्रवाल : व्यावसायिक शिक्षा व कौशल विकास।

3- रवींद्र जायसवाल : स्टांप तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन।

4- संदीप सिंह : बेसिक शिक्षा।

5- गुलाब देवी : माध्यमिक शिक्षा।

6- गिरीश चंद्र यादव : खेल एवं युवा कल्याण।

7- धर्मवीर प्रजापति : कारागार एवं होमगार्ड्स।

8- असीम अरुण : समाज कल्याण, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण।

9- जयेंद्र प्रताप सिंह राठौर : सहकारिता।

10- दयाशंकर सिंह : परिवहन।

11- नरेंद्र कश्यप : पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण।

12- दिनेश प्रताप सिंह : उद्यान, कृषि विपणन, कृषि विदेश व्यापार तथा कृषि निर्यात।


 13- अरुण कुमार सक्सेना : वन एवं पर्यावरण, जंतु उद्यान एवं जलवायु परिवर्तन।


 14- दयाशंकर मिश्र 'दयालु' : आयुष, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन (राज्यमंत्री)।


राज्यमंत्री


1- मयंकेश्वर शरण सिंह : संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा, स्वास्थ्य , परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण।

2- दिनेश खटीक : जलशक्ति।

3- संजीव गोंड : समाज कल्याण, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण।

4- बलदेव सिंह औलख : कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान।

5- अजीत पाल : विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रानिक्स तथा सूचना प्रौद्योगिकी।

6- जसवंत सैनी : संसदीय कार्य तथा औद्योगिक विकास।

7- रामकेश निषाद : जलशक्ति।

8- मनोहर लाल मन्नू कोरी : श्रम एवं सेवायोजन।

9- संजय गंगवार : गन्ना विकास एवं चीनी मिलें।

10- बृजेश सिंह : लोक निर्माण ।

11- केपी मलिक : वन, पर्यावरण, जन्तु उद्यान एवं जलवायु परिवर्तन ।

12- सुरेश राही : कारागार।

13- सोमेन्द्र तोमर : ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा।

14- अनूप प्रधान वाल्मीकि : राजस्व।

15- प्रतिभा शुक्ला : महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार।

16- राकेश राठौर गुरु : नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन।

17- रजनी तिवारी : उच्च शिक्षा।

18- सतीश शर्मा : खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति।

19- दानिश आजाद अंसारी : अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज।

20- विजय लक्ष्मी गौतम : ग्राम्य विकास एवं समग्र ग्राम विकास, ग्रामीण अभियंत्रण।


यूपी : उत्तर प्रदेश शासन मंत्रीमंडल की सूची जारी, देखें किसके जिम्मे आया कौन सा मंत्रालय


उत्तर प्रदेश: योगी सरकार के मंत्रियों को आवंटित हुए मंत्रालय, जानें किसे मिला कौन सा विभाग, ये है पूरी लिस्ट


UP Ministers portfolio full list: उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी मंत्रियों को उनके विभागों का बंटवारा कर दिया है। यहां देखें पूरी लिस्ट और जानें कि किस मंत्री को कौनसा विभाग मिला है।


🔵 केशव प्रसाद मौर्य को ग्राम्य विकास मंत्रालय मिला है


🔵 जितिन प्रसाद को PWD विभाग मिला है


🔵 स्वतंत्र देव सिंह को जलशक्ति मंत्री बनाया गया है


🔵 संदीप सिंह को बेसिक शिक्षा विभाग मिला


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों के बीच मंत्रालयों का बंटवारा कर दिया है। गृह मंत्रालय समेत कई विभाग सीएम योगी ने अपने पास रखे हैं। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को ग्राम विकास एवं समग्र ग्राम विकास, ग्रामीण अभियंत्रण, खाद्य प्रसंस्करण, मनोरंजन कर आदि विभाग दिए गए हैं। वहीं दूसरे उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की जिम्मेदारी दी गई है। वित्त मंत्रालय सुरेश कुमार खन्ना को दिया गया है। सूर्य प्रताप शाही को कृषि मंत्रालय दिया गया है। स्वतंत्र देव सिंह को जल शक्ति, नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति, सिंचाई एवं जल संसाधन की जिम्मेदारी दी गई है।


बेबी रानी मौर्य को महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग दिया गया है। गन्ना विकास और चीनी मिलें लक्ष्मी नारायण चौधरी को दी गई हैं। पर्यटन और संस्कृति विभाग जयवीर सिंह को दिए गए हैं। जितिन प्रसाद को लोक निर्माण विभाग दिया गया है। अरविंद कुमार शर्मा को नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन, ऊर्जा मंत्रालय दिया गया है। संजय निषाद को मत्स्य विभाग मिला है। संदीप सिंह को बेसिक शिक्षा विभाग मिला है। असीम अरुण को समाज कल्याण और अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण मंत्रालय मिला है। दयाशंकर सिंह को परिवहन मंत्री बनाया गया है।