डीआरआई वाराणसी के अधिकारियों ने 4 किलो विदेशी सोने के साथ किया दो तस्करों को गिरफ्तार

 डीआरआई वाराणसी के अधिकारियों ने 4 किलो विदेशी सोने के साथ किया दो तस्करों को गिरफ्तार




वाराणसी । सूत्रों से मिली खबर के अनुसार राजस्थान के रहने वाले एक बड़े स्मगलर को डीआरआई गुवाहाटी ने उसके दो सहयोगियों के साथ 30 मार्च 2022 को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर डीआरआई वाराणसी ने सरगना के पिता व उसके एक अन्य सहयोगी को भी वाराणसी में 4 किलो विदेशी सोने के साथ 31 मार्च 2022 को पकड़ लिया है। वाराणसी में जप्त किए गए विदेशी सोने की कीमत दो करोड़ के पार बताई जा रही है।

पकड़े गए तस्कर बड़े गिरोह के बताए जा रहे हैं और डीआरआई की लगातार छापेमारी में अब तक कुल 5 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं जिसमें 3 गुवाहाटी में पकड़े गए हैं और दो वाराणसी में। गुवाहाटी में पकड़े गए तस्करों के पास से भी भारी मात्रा में विदेशी सोने के बिस्किट बरामद हुए हैं। सोने की तस्करी का मेन सरगना गुवाहाटी में पकड़ा गया है जिस से लगातार पूछताछ जारी है। इस गिरोह के सरगना के काम में सहयोग करने वाले उसके पिता को भी मुगलसराय रेलवे स्टेशन से 3 किलो विदेशी सोने के साथ डीआरआई वाराणसी ने गिरफ्तार कर लिया है, जो दुरंतो एक्सप्रेस से कोलकाता से राजस्थान विदेशी सोना लेकर जा रहा था और दुरंतो एक्सप्रेस के एसी फर्स्ट क्लास के कोच में ट्रेवल कर रहा था। अन्य पकड़े गए तस्करों से भी जानकारी इकट्ठा की जा रही है और उनके बताए गए लोगों के बारे में जानकारी इकट्ठा की जा रही है और ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। यह तस्कर राजस्थान के रहने वाले हैं कोलकाता और गुवाहाटी में बेस बनाकर  म्यानमार से भारत में विदेशी सोने की तस्करी कर रहे हैं और तस्करी सोने को कोलकाता बिहार उत्तर प्रदेश राजस्थान और दिल्ली के बाजारों में सप्लाई कर रहे हैं। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार यह तस्कर राजस्थान से लोगों को नौकरी के चक्कर में गुमराह कर गुवाहाटी और कोलकाता ले जाते हैं फिर  पकड़े गए हैं और पिता पुत्र जो इस केस के मास्टरमाइंड है उनकी भी गिरफ्तारी हो गई है। आगे की जांच जारी है सूत्रों का कहना है इसमें भारी मात्रा में हवाला के रुपयों का लेनदेन हुआ है और जल्दी ही कोई बड़ा खुलासा हो सकता है।