दो जिलाध्यक्षों की सफल हुई नीति, सपा से छीनी सीट

 दो जिलाध्यक्षों की सफल हुई नीति, सपा से छीनी सीट



फतेहपुर। जैसे ही विधानपरिषद चुनाव की मतगणना फतेहपुर कलेक्ट्रेट में प्रारंभ हुई ,और फिर फतेहपुर की मतपेटीकाओं से मतपत्र निकलने के साथ ही भाजपा उम्मीदवार के मतपत्रों की शिषर जैसी उंचाई दिखी, अचानक दोनों भाजपा जिलाध्यक्ष जिनमें एक स्वयं उम्मीदवार अविनाश सिंह चौहान व फतेहपुर जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा आपस में मुस्कुराते हुए एक दूसरे से को  भावुक मुद्रा में देखने लगे , उपस्थित लोग कुछ समझ पाते,  एकबारगी अविनाश सिंह चौहान का अभिनंदनीय मुद्रा में यह कहना कि धन्यवाद् आशीष मिश्रा का कहना लोगों को बहुत कुछ सोचने समझने का विषय दे गया , गौरतलब हो कि नामांकन उपरांत भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा द्वारा लगातार दिन रात चुनाव में विजयश्री के अंतर को कैसे बढ़ाया जाये पर चिंतन मंथन होता रहा , मतदान दिवस पर नेता द्वय का बूथों पर दौरा हो ,या पूर्व में सभी ब्लाकों में आयोजित बीडीसी व प्रधानों की बैठकें , सभी मोड़ पर राम लखन की जोड़ी द्वारा लगन से कार्य करने का परिणाम आज सभी के मध्य है , जहां एक ओर निवर्तमान विधानपरिषद सदस्य को महज़ पांच प्रतिशत प्राप्त मतों से संतोष करना पड़ा, वहीं उक्त संगठन की जोड़ी ने नब्बे प्रतिशत से अधिक मत अपने झोली में डाल नया इतिहास रचा गया ।