अकांक्षात्मक विकास कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ सम्पन्न

 अकांक्षात्मक विकास कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ सम्पन्न 



फतेहपुर।मुख्य अतिथि श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी, मंत्री महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार एवं विशिष्ट अतिथि साध्वी निरंजन ज्योति, राज्यमंत्री, उपभोक्ता मामलों, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण एवं ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार की उपस्थिति में अकांक्षात्मक जनपद फतेहपुर में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ सम्पन्न हुई । उन्होंने विकास कार्यो में टीम भावना से किये गए कार्यो की भूरि-भूरि सराहना की और कर्तव्य निष्ठा के साथ कार्यो को पूरा किया आप प्रसंशा के पात्र है । जनमानस के कार्यो को मेहनत के साथ पूरा किया । शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, मनरेगा, ग्राम्य विकास, दूर संचार, जिला पंचायत विभाग, पशुपालन, उद्यान, पीएमजेएसवाई आदि में समन्वय कर अपने विभाग की योजनाओ को पूरा करें । उन्होंने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के बिंदुओ पर जनप्रतिनिधियों के साथ सहयोग लेकर सम्पन्न कराये और इसके बारे में जानकारी दे । दिव्यांगजनो को मुख्यचिकित्साधिकारी विशेष कार्यक्रम कराकर लाभान्वित करे । 

जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे ने प्रोजेक्टर के माध्यम से जनपद में नीति आयोग के तहत मिये गए कार्यो की शार्ट फ़िल्म दिखाई और बिन्दुओ पर विस्तार से बताया कि जनपद अर्धविकसित क्षेत्र में आते है उनकी प्रगति में सुधार के लिए संगठित प्रयास हेतु 05.01.2018 को आकांक्षी जनपद कार्यक्रम की घोषणा की गयी, जिसमे प्रदेश के 08 आकांक्षी जनपदों में जनपद फतेहपुर भी एक है । जनपद के सतत विकास एवं अनुश्रवण हेतु 06 प्रमुख क्षेत्रो की पहचान की गयी इन क्षेत्रों में प्रगति मूल्यांकन करने के लिए 49 संकेतकों का निर्धारण किया गया है-स्वास्थ्य और पोषण के 13 संकेतक, शिक्षा के 08 संकेतांक, कृषि एवं जल संसाधन के 10, वित्तीय समावेशन के 06, कौशल विकास के 05 तथा अन्य आधारभूत सुविधाओं के विस्तार हेतु 07 संकेतांको का निर्धारण किया गया । उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 से अब तक जनपद द्वारा कुल 06 बार विभिन्न क्षेत्रों में अच्छी रैंक प्राप्त करने के उपलक्ष्य में रु0 15.00 करोड़ की अतिरिक्त धनराशि नीति आयोग द्वारा एम्पावर्ड कमेटी की बैठक में अनुमोदित की जा चुकी है । 

रू0 7.50 करोड़ (सात करोड़ पचास लाख रु० मात्र) की लागत से नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के 42 विद्यालयों में आधारभूत सुविधाओं एवं ग्रामीण क्षेत्र के 178 तथा उक्त 42 विद्यालयों में स्मार्ट क्लास से आच्छादित किये जाने का कार्य प्रगति पर है ।

रु0 2.0914 करोड़ (दो करोड़ नौ लाख चौदह हजार रु० मात्र) की लागत से सरदार वल्लभ भाई पटेल प्रेक्षागृह के मरम्मतीकरण का कार्य प्रगति पर है । इस कार्य से जनपद में एक साथ 500 लोगों के साथ मीटिंग या ट्रेनिग करायी जा सकती है ।

रु0 0.4086 करोड़ (चालीस लाख छियासी हजार रु० मात्र) की लागत 500.00  मी0टन क्षमता का बीज भण्डार गृह औग मलवां फतेहपुर में निर्माण कराया जा रहा है ।

रु0 0.6563 करोड़ (पैसठ लाख तिरसठ हजार रु० मात्र ) की लागत से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिन्दकी फतेहपुर में आधारभूत सुविधाओं से आच्छादित किये जाने हेतु निर्माण कार्य किया जा चुका है । 

रू0 0.4986 करोड़ (उन्चास लाख छियासी हजार रू० मात्र) की लागत से राजकीय पुस्तकालय को ई-लाइब्रेरी में तैयार करने का कार्य प्रगति पर । 

आकांक्षी जनपद घोषित होने के उपरान्त जनपद फतेहपुर की निम्न उपलब्धियों रही है।

आकांशी जनपदों में विभिन्न विभागों के मानव श्रम की तैनाती प्राथमिकता पर की गयी ।

चिन्हित क्षेत्रों में गुणात्मक सुधार परिलक्षित हुआ है ।

चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की शत-प्रतिशत तैनाती की गयी, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में विस्तार एवं सुदृढीकरण हुआ। जनपद में 223 स्वास्थ्य केन्द्रो को विकसित कर हेल्थ वेलनेस सेन्टर के रूप में स्थापित किया गया जो क्रियाशील है। 

अत्याधुनिक सी०टी० स्कैन मशीन स्थापित की गयी है।

प्रदेश का प्रथम एम०एन०आई०सी०यू० स्वीकृत हुआ, जनपद चिकित्सालय में स्थापित किया गया जो क्रियाशील है। अत्याधुनिक डिजिटल एक्स-रे की स्थापना की गयी है। प्रदेश सरकार द्वारा जनपद में 500 बेड के उच्चीकृत मेडिकल कॉलेज की स्थापना की जा रही है, जिसका 86 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है । एम०बी०बी०एस० कोर्स हेतु 100 छात्रों को नीट के माध्यम से प्रवेश दिया जा चुका है, जो अध्ययनरत हैं ।

महिला चिकित्सालय का स्टेट लेवल टीम द्वारा NQAS कार्यक्रम हेतु सर्टिफिकेशन किया है । 

स्वास्थ्य सेवाओं के मूलभूत संकेतकों में अभूतपूर्व सुधार हुआ है सी०एस०आर०फण्ड के अन्तर्गत जनपद को एच०पी०सी० एल० द्वारा रु० 1.6777 करोड़ की धनराशि से जिला चिकित्सालय/फर्स्ट रेफरल यूनिट सी०एस०सी०/पी०एस०सी० में जनहित के उपकरण कय कर स्थापित किये गये हैं उक्त धनराशि से 04 ई०सी०जी० मशीन, 20 मेडसिन ट्राली, 336 हिमोग्लोबिन मीटर, 01 होरिजेन्टल ऑटोक्लेब, 12 क्रश कार्ड, 01 डिफिबिलेटर, 05 कार्डियक मानीटर, 04 डिजिटल डिस्प्ले बोर्ड 32 इंच सैमसंग एल०एफ०डी०,06 आर०ओ० प्लांट, 05 डिजिटल पोर्टेबल एक्स - रे मशीन, 05 कम्प्यूटर रेडियोग्राफी सिस्टम, 06 पैथाजिकल माइकोस्कोप, 06 डी० जी० सेट 25 के०वी०ए०, 06 वाटर गीजर 25 लीटर, 18 आस्ट्रेटिक एल0आर0 टेबल, 14 रेफ्रीजरेटर डबल डोर, 20 ए०सी० 1.5 टन का क्रय किया गया जो वर्तमान में सभी क्रियाशील हैं।इसी प्रकार भारतीय स्टेट बैंक (एस०बी०आई०) द्वारा रु० धनराशि 0.712947 करोड़ (सात लाख बारह हजार नौ सौ सैतालिस) की लागत से 16 रेडियन्ट वार्मर दिये गये।

रेडियन्ट वार्मर डिलेवरी सेन्टर में शिशुओं को हाइपोथर्मिया से बचाने के लिये रखा जाता है । 

शिक्षा के क्षेत्र में मिशन कायाकल्प के तहत नीति आयोग द्वारा कुल 220 विद्यालयों में स्मार्ट क्लास एवं 220 विद्यालयों में से 42 विद्यालयों (33 शहरी एवं 09 ग्रामीण) में ऑपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत कार्य अनुमोदित किये गये हैं, सम्बन्धित विद्यालयों में आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत निर्माण कार्य प्रारम्भ किये जा चुके हैं। आपरेशन कायाकल्प में टाइल्स, शौचालय, रनिंगवाटर, शुद्ध पेयजल, मल्टीपल हैण्डवॉस यूनिट, विद्युतीकरण, सिंकयुक्त किचेन इत्यादि कार्य किये जा रहे है । रु0 3.8450 करोड़ की लागत से कस्तुरबा विद्यालयों के कायाकल्प हेतु डी०पी०आर० कार्यदायी संस्था द्वारा तैयार कराया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत स्मार्ट क्लास, बाला पेन्टिंग, बासकेट बाल कोट की स्थापना एवं कमरों में टाइल्स का निर्माण तथा प्रत्येक कस्तूरबा विद्यालयों पर साइकिलिंग की व्यवस्था आदि की जायेगी । इसके अतिरिक्त शिक्षा के गुणवत्ता में सुधार के लिए जनपद में प्रार्थना पंचाग कार्यक्रम समस्त परिषदीय विद्यालयों में पांच सप्ताह का लागू किया गया है जिसका उद्देश्य छात्र-छात्राओं में समझ अनुशासन आत्म विश्वास एवं स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा भावना विकसित करना है । परिणामस्वरूप छात्र समय से विद्यालय पहुंच कर सुव्यवस्थित तरीके से प्रार्थना में सम्मिलित होते हैं एवं प्रार्थना स्थल पर ही समसामयिक सामान्य ज्ञान से भिज्ञ हो रहे हैं । न्याय पंचायत स्तर पर सर्वोच्च प्रदर्शन करने वाले विद्यालय के बच्चों को प्रत्येक सोमवार को पुरुस्कृत किया जाता है । इस प्रकार जनपद के समस्त परिषदीय विद्यालयों में एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का जन्म हुआ है । समस्त अध्यापक अपने विद्यालयों में दैनिक रूप से अच्छा करने का प्रयास कर रहें हैं ।

जनपद में सूक्ष्म सिंचाई के क्षेत्रफल में वृद्धि हेतु बागवानी फसलों के साथ कृषि फसलों में भी स्प्रिंकलर सेट एवं रेनगन के प्रयोग हेतु प्रदर्शन एवं प्रशिक्षण का आयोजन किया गया है। कृषकों के भ्रमण कार्यक्रम का आयोजन, नहरी एवं डार्क जोन में भी स्प्रिंकलर के माध्यम से सिंचाई पर जोर। इसके अतिरिक्त खेत तालाब योजना एवं सोलर पंप के लाभार्थियों को स्प्रिंकलर सेट से शत-प्रतिशत आच्छादित करने की रणनीति उद्यान विभाग द्वारा तैयार करायी गयी है । कृषकों को सुगमतापूर्वक ऋण उपलब्धता एवं फसल सुरक्षा हेतु बीमा के लिए आसानी से ऋण वितरण हेतु मेगा क्रेडिट कैम्प एवं विकास खण्ड स्तर पर क्रेडिट कैम्प का आयोजन किया गया है । P.M.Kisan के लाभार्थियों का शत-प्रतिशत K.C.C से आच्छादित करने हेतु K.C.C App एवं कर्मचारियों के माध्यम से ऋण आवेदन एवं बैंक से समयबद्ध निस्तारण की कार्यवाही की जा रही है । जनपद में प्रमुख फसलों के उत्पादन में वृद्धि हेतु बीज प्रतिस्थापन दर 33 प्रतिशत से बढ़ाकर 51 प्रतिशत तक किया गया, साथ ही नवीन प्रजातियों के माध्यम से पुरानी प्रजातियों का भी प्रतिस्थापन किया जा रहा है, जिससे फसल उत्पादकता में अपेक्षित वृद्धि प्राप्त हो सके । प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजनान्तर्गत वर्ष 2018 से अब तक 32447 आवास गरीब एवं पात्र लाभार्थियों को दिये जा चुके हैं । प्रधानमंत्री आवास शहरी योजनान्तर्गत वर्ष 2018 से अब तक 7689 आवास गरीब एवं पात्र लाभार्थियों को दिये जा चुके हैं ।  मुख्यमंत्री आवास योजनान्तर्गत वर्ष 2018 से अब तक 379 आवास गरीब एवं पात्र लाभार्थियों को दिये जा चुके हैं । प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनान्तर्गत जनपद के 117 पुरवों को पहुंच मार्ग से जोड़ा गया है, जिसमें 126.33 किमी० सड़कों का निर्माण किया गया है । मनरेगा योजनान्तर्गत मार्च 2018 से मार्च, 2022 तक 2094 तालाबों की खुदाई एवं 62 पार्को का सुन्दरीकरण किया जा चुका है। सिंचाई विभाग द्वारा ससुर खेदरी नदी के पुनररुद्धार/जीर्णोद्धार हेतु डी०पी०आर० तैयार कराया गया है, जिसके अनुसार कुल 58 किमी0 नदी का खुदाई किया जाना आवश्यक है । विकास खण्ड भिटौरा, हसवां, हथगाम, तथा ऐराया से होकर गुजरती है इस नदी से 04 विकास खण्डों की 30 ग्राम पंचायतों एवं 44 राजस्व ग्राम प्रभावित हैं। नदी के रास्ते में कुल 06 झीलें हैं जिसकी खुदाई का डी०पी०आर० भी सिंचाई विभाग द्वारा तैयार किया गया है । 05 झीलों का डी०पी०आर० नमामि गंगे भारत सरकार को प्रेषित किया गया है तथा 01 झील सेमरा मानापुर का डी० पी०आर० जिला पंचायत द्वारा बनाया गया है । जिला खनिज न्यास फाउन्डेशन से आंवटित धनराशि से जनपद में 06 कार्य उ०प्र० लघु उद्योग निगम कानपुर द्वारा कराया जा रहा है । रु० 59.21 लाख की लागत से स्पोटर्स स्टेडियम में जॉगिंग ट्रैक का निर्माण कराया जा रहा है । रु0 11.36 लाख की लागत से कलेक्ट्रेट स्थित गांधी सभागार का विस्तार कराया गया । सी०एस०सी० असोथर के मरम्मतीकरण का कार्य रु0 35.46 लाख की लागत से कराया जा रहा है । स्पोटर्स स्टेडियम में अवशेष भवन के निर्माण कार्य रू0 79.43 लाख की लागत से कराया जा रहा है । स्पोटर्स स्टेडियम के बहुउद्देशीय हाल में बैडमिन्टन कोर्ट की स्थापना एवं जिला चिकित्सालय फतेहपुर के प्राइवेट वार्ड के 02 कक्षों के मरम्मतीकरण का कार्य कराया जा चुका है ।

 इस अवसर पर  जिला पंचायत अध्यक्ष  अभय प्रताप सिंह विधायक बिन्दकी जय कुमार सिंह जैकी, विधायक जहानाबाद राजेन्द्र सिंह पटेल, खागा विधायक श्रीमती कृष्णा पासवान, विधान परिषद सदस्य अविनाश सिंह चौहान,भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा, सयुंक्त सचिव ग्रामीण भारत सरकार डा0 आशीष कुमार गोयल, जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे, पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश व अन्य भाजपा के पदाधिकारी सहित जिलास्तरीय अधिकारीगण  उपस्थित रहे।

Popular posts
चेहरे पर मुहासे के दाग होने की वजह से 8 जगहों से टूटा रिश्ता हीनभावना से ग्रसित,युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
चित्र
लगभग 5 करोड़ रुपए की अष्टधातु की मूर्ति के साथ एक आरोपी गिरफ्तार
चित्र
एंटी करप्शन टीम ने रिश्वत लेते बाबू को रंगेहाथ पकड़ा, एरियर निकालने के लिए मांगे थे 14 हज़ार रुपये
चित्र
उत्तर प्रदेश में मुफ्त राशन वितरण व्यवस्था में बदलाव, अब राशनकार्ड धारकों को चावल ज्यादा और गेहूं कम मिलेगा
चित्र
अतिक्रमणकारियों पर होगी सख्त कार्रवाई--- एसडीएम बिंदकी
चित्र