जिला अस्पताल के ऑपरेशन रूम के दरवाजे में पर्दे बांधकर डॉक्टर कर रहे उपचार

 जिला अस्पताल के ऑपरेशन रूम के दरवाजे में पर्दे बांधकर डॉक्टर कर रहे उपचार



सुविधाओं से लैस है ऑपरेशन रूम अधिकारियों को नहीं है ऑपरेशन रूम की फिकर अपनी जान जोखिम में डालकर डॉक्टर करते हैं ऑपरेशन रूम के अंदर मरीजों का ऑपरेशन


फतेहपुर। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक जहां उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में बने जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण करते हुए सख्त चेतावनी दी कि जिला अस्पताल में हर सुविधा मुहैया कराई जाएगी जिला अस्पताल मे मिलने वाली कमियों को तत्काल प्रभाव से दूर करके मरीजों का उपचार किया जाएगा उन्होंने कहा कि यदि जिला अस्पताल में किसी प्रकार की असुविधा है तो उस असुविधा को तत्काल पूर्ण किया जाए जिससे मरीजों का उपचार हो सके वही जनपद के जिला अस्पताल के ऑपरेशन रूम की व्यवस्था बद से बदतर है ऑपरेशन रूम के अंदर पिछले 15 दिनों से दरवाजा उखड़ा रखा हुआ है और झोलाछाप डॉक्टरों की तरह पर्दे बांधकर मरीजों का ऑपरेशन किया जा रहा है वहीं ऑपरेशन रूम के अंदर सियाम मशीन, एक लाइट, एक ए सी तथा बीपी मशीन स्कीन पूरी तरह से खराब पड़ी हुई है और जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक भी इन व्यवस्थाओं को पूर्ण करने मे शुद् नहीं अपना रहे हैं पिछले लंबे समय से यह मशीन तथा दरवाजे खराब पड़े हुए और जिम्मेदार अधिकारी अपना पल्ला झाड़ते हुए नजर आ रहे हैं डॉक्टर किस प्रकार से मरीज का ऑपरेशन कर रहे  हैं यह उनका दिल जानता है परंतु धरती का भगवान कहे जाने वाले डॉक्टर अपने कर्तव्यों का पूर्णता निर्वहन करते हुए मरीजों को जल्द स्वस्थ करने का काम करते हैं लेकिन जिला अस्पताल जब से मेडिकल कॉलेज का रूप लिया तब से मानो यहां की व्यवस्थाएं चरमरा सी गई है और अधिकारी भी मौन धारण किए हुए बैठे हैं।