यूपी: गर्मी के कारण प्रदेश में बिजली की मांग में रिकॉर्ड वृद्धि, आपूर्ति पटरी पर रखने में छूट रहे पसीने

 यूपी: गर्मी के कारण प्रदेश में बिजली की मांग में रिकॉर्ड वृद्धि, आपूर्ति पटरी पर रखने में छूट रहे पसीने    



न्यूज़।गर्मी के कारण उत्तर प्रदेश में बिजली की मांग में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। इस साल अप्रैल में ही मांग 21500 मेगावाट तक पहुंच गई है। आपूर्ति व्यवस्था पटरी पर रखने में अभियंताओं व तकनीकी स्टाफ के पसीने छूट रहे हैं। हालांकि आला अधिकारी हालात नियंत्रण में होने का दावा कर रहे हैं, लेकिन शहरों से लेकर गांवों तक लोकल फाल्ट, ओवर लोडिंग व अन्य तकनीकी कारणों से अघोषित कटौती का सिलसिला जारी है। प्रदेश में बीते साल मार्च-अप्रैल में बिजली की अधिकतम मांग 18593 मेगावाट तथा 19837 मेगावाट थी जो इस साल 20,500 और 21,500 मेगावाट के आसपास जा पहुंची है। बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के लिए सभी उपलब्ध स्रोतों के साथ एनर्जी एक्सचेंज से भी बिजली का इंतजाम किया जा रहा है। अधिकारियों का दावा है कि मौजूदा समय में रिकॉर्ड आपूर्ति की जा रही है। अप्रैल में इससे पहले इतनी बिजली आपूर्ति कभी नहीं की गई। फील्ड के स्टाफ को आपूर्ति की सघन निगरानी के निर्देश दिए गए हैं।