जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अमृत सरोवर/ससुर खदेरी नदी व गौवंशो हेतु सुविधाओं के संबंध में समीक्षा बैठक संपन्न

 जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अमृत सरोवर/ससुर खदेरी नदी व गौवंशो हेतु सुविधाओं के संबंध में समीक्षा बैठक संपन्न



फतेहपुर।जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में अमृत सरोवर/ससुर खदेरी नदी व गौवंशो हेतु सुविधाओं के संबंध में समीक्षा बैठक अधिकारियों के साथ संपन्न हुई ।उन्होंने कहा कि गौवंशो के लिए भूषा, हरा चारा, पशुआहार, पानी आदि की व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाए।गौवंशो के लिए भूषा जन सहयोग के माध्यम से एकत्रित किया जाए इसके लिए ग्राम प्रधान, ब्लॉक प्रमुख, बड़े पशुपालक, ईंट भट्ठा व्यापार संघ, पेट्रोल पम्प के संचालकों, बड़े कृषकों एवं जनप्रतिनिधियों से भूषा गौशालाओ को दान कराने हेतु आह्वान करे । गौशालाओ को दान से प्राप्त भूषा के लिए  अलग से अस्थायी शेड बनाकर रखे , जो अस्थायी शेड बनाया जा रहा है उसकी फोटोग्राफ भी उपलब्ध कराने के निर्देश खंड विकास अधिकारी को दिए । पशुओं के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए सतत निगरानी रखते है टीकाकरण, पोषण आदि का ध्यान रखा जाए । जिन गौशालाओ में गौवंशो के गोबर से लठ्ठे बनाये जा रहे है की मशीन के लिए प्लेटफार्म तैयार किया जाए । वर्मी कम्पोस्ट खाद जिन गौशालाओ में बनाई जा रही है वहाँ प्लेटफार्म तैयार करने के साथ ही जिन स्वयं सहायता समूह  द्वारा  बनाये गए है उनका स्टीकर पैकेट में लगवाकर बिक्री कराये । अमृत सरोवर योजनांतर्गत जो तालाब चिन्हित किये गए है जीर्णोद्धार/पुनर्जीवित करने के लिए कार्ययोजना बनाकर कार्य प्रारंभ किया जाए , जिसमे मूल रूप से सरोवर के आस-पास वृक्ष, बैठने की व्यवस्था, वाकिंग पार्क आदि से सुसज्जित किया जाए । जनपद में 62 खेल के मैदान निर्मित किये गए है उसमें क्षेत्रफल के अनुसार वृक्ष, खेलकूद संबंधित उपकरण लगाए जाएं । उपजिलाधिकारियों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र के प्रत्येक विकास खंड में 05-05 खेल के मैदान बनाने के लिए भूमि का चिन्हांकन ऐसे स्थानों पर किया जाए जो आबादी के समीप और बड़ी ग्राम पंचायते है । उन्होंने कहा कि जनपद में 10 मॉडल स्कूल बनाये जाने है उनका चिन्हांकन करने के के निर्देश बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिए, मॉडल स्कूलों में सभी सुविधाओं से सुसज्जित करने के लिए कार्ययोजना भी तैयार किया जाए । ससुर खदेरी नदी को पुनर्जीवित करने के लिए खुदाई के कार्य में तेजी लाए, जो श्रमदान से नदी में खुदाई में किया जाना है उसमें जो सहयोग की आवश्यकता है उसकी तैयारी पहले से कराकर रखे जिससे कि श्रमदान करने में किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो । 

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, उपजिलाधिकारी सदर, बिन्दकी, खागा, परियोजना निदेशक डीआरडीए एमपी चौबे, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी आर0डी0 अहिरवार, डीसी मनरेगा अशोक कुमार गुप्ता, डीडीएजी राममिलन सिंह परिहार, जिला कृषि अधिकारी बृजेश सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित एडीओ पंचायत व संबंधित उपस्थित रहे ।