न्याय की आस में बच्चों के साथ अनशन पर बैठी महिला

 न्याय की आस में बच्चों के साथ अनशन पर बैठी महिला 



रिपोर्ट - श्रीकांत श्रीवास्तव 


 बांदा - जनपद में 50 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर छोटे-छोटे बच्चों के साथ न्याय की आस पर सपना नामक महिला जो कि मरही माता शहर कोतवाली क्षेत्र अंर्तगत की रहने वाली है। आज 3 दिन से आमरण अनशन पर अशोक लाट चौराहे पर बैठी हुई है  पीड़ित महिला सपना ने बताया कि उसका पति विजयराज दिनांक 10.03.21को दिन को  सुबह 9:30 बजे घर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सिंह का संबोधन सुनने राजकीय इंटर कॉलेज बांदा मैदान में कहकर घर से बाहर निकले थे रैली में भीड़ ज्यादा होने के कारण उनको अचानक दिल का दौरा पड़ गया और सुबह 11:30 बजे सभा स्थल में ही पति विजयराज की  मौत हो गई थी पीड़ित महिला को शासन प्रशासन ने आर्थिक मदद का वादा किया था लेकिन लगभग 1 वर्ष से अधिक समय हो चुका है ना तो शासन से कुछ मदद हो सकी है और ना ही जिला प्रशासन के द्वारा किसी तरह की आर्थिक सहयोग व सहायता प्रदान की गई है पीड़ित महिला के पति के मरने के बाद उसकी स्थिति दैनीय है चार पुत्रियां हैं जिनमें दो शादी के लायक है 1 पुत्र 14 वर्षीय है जो कि विद्यार्थी है उसकी शिक्षा नहीं हो पा रही है पीड़ित महिला सपना ने बताया कि वह सब्जी बेचकर घर चला रही है और कोई भी व्यवस्था लड़की की शादी करने कि नहीं है कई बार शासन और प्रशासन को अवगत कराया  पर आज तक न्याय नहीं मिल सका  सिवाय आश्वासन के उसको कुछ भी नहीं मिला इसलिए वह अपने बच्चों सहित अनशन करने के लिए मजबूर हो गई है और अगर इस मौसम में उसको या उसके किसी भी परिवारिक सदस्य को कुछ होता है तो उसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

वही पीड़ित महिला ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपनी मजबूरी का हवाला देते हुए आर्थिक मदद दिलाए जाने की मांग की है वही पत्नी का कहना है कि उसका पति भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता था अभी तक मदद न होने पर वह हताश और निराश है जब तक उसको न्याय नहीं मिलेगा वह अनशन पर बैठी रहेगी।

Popular posts
सदर कोतवाली के अंतर्गत राधा नगर चौकी क्षेत्र में "सीमा क्लीनिक" नाम का अदौली रोड में डॉक्टर ने गर्भपात करने की खोल रखी है मौत की दुकान
चित्र
पत्रकार की बाइक का बदौसा थानाध्यक्ष ने किया चालान पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक को दिया लिखित शिकायत पत्र
चित्र
नगर पालिका बांदा की घोर लापरवाही आई सामने,
चित्र
डायल 112 पीआरबी कर्मियों के द्वारा जंगल में हाथ पैर बांध कर फेंके गए युवक को बंधन से कराया मुक्त
चित्र
लेखपाल की लापरवाही के चलते दबंग पूर्व ग्राम प्रधान ने अपने कार्यकाल में तालाब पर अवैध रूप से कब्जा कर बनवाया अपना मकान,प्रशासन दबंग प्रधान के सामने है मौन
चित्र