आज बुद्ध पूर्णिमा के दिन भगवान बुद्ध की जन्मजयंती बड़े धूमधाम से मनाई गई

 आज बुद्ध पूर्णिमा के दिन भगवान बुद्ध की  जन्मजयंती बड़े धूमधाम से मनाई गई



रिपोर्ट - श्रीकांत श्रीवास्तव 


बांदा - आज शहर कचेहरी अम्बेडकर पार्क संघमित्रा बौद्ध बिहार में जहां आज बुद्ध पूर्णिमा के दिन भगवान बुद्ध का  जन्मजयंती बड़े धूमधाम से मनाई गई है जिसमें बुद्ध के तमाम अनुयायिओं ने सुबह से आकर बुद्ध के चित्र पर माल्यार्पण कर बुद्ध वंदना सहित अन्य काई कार्यक्रम आयोजित किया गया है , इस मौके पर जितेंद्र कुमार बहुजन सेवा संघ, सुखलाल बौद्ध राष्ट्रीय बौद्ध महासभा, जयनारायण , जेपी वर्मा, गंगा बौद्ध सहित ‌अंन्य लोग मौजूद रहे 

वैशाख पूर्णिमा पर ही सिद्धार्थ कहलाए थे गौतम बुद्ध

भगवान बुद्ध का जन्म, ज्ञान प्राप्ति और महापरिनिर्वाण, ये तीनों एक ही दिन यानी वैशाख पूर्णिमा को ही हुए 7 मई, यानि आज वैशाख महीने की पूर्णिमा है।

इसे ही बुद्ध पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईसा पूर्व नेपाल के लुम्बिनी वन में हुआ था। ये जगह आज कपिलवस्तु और देवदह के बीच नौतनवा स्टेशन से पश्चिम दिशा में करीब 12 किलोमीटर दूर है। बौद्ध धर्म मानने वाले लोगों के लिए लुम्बिनी एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थान है। यह नेपाल के रूपनदेही जिले में पड़ता है। गौतम बुद्ध का ननिहाल देवदह में था। व मनाई जाने वाली बुद्ध पूर्णिमा को वैशाख पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन 563 ईसा पूर्व में भगवान बुद्ध का जन्म वैशाख महीने की पूर्णिमा को हुआ था। 

80 साल बाद इसी दिन बुद्ध ने 483 ई.पू देवरिया जिले के कुशीनगर में निर्वाण प्राप्त किया था। भगवान बुद्ध का जन्म, ज्ञान प्राप्ति और महापरिनिर्वाण, ये तीनों एक ही दिन यानी वैशाख पूर्णिमा को ही हुआ था। कहा जाता है कि इसी दिन जब उन्हें ज्ञान प्राप्ति हुई तो वे सिद्धार्थ से गौतम बुद्ध कहलाए। इसलिए बौद्ध धर्म में ये दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है।