राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण के अंतर्गत विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में हस्तकार अभियान का किया गया आयोजन

 राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण के अंतर्गत विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर मुख्य चिकित्साधिकारी  कार्यालय में हस्तकार अभियान का किया गया आयोजन



फतेहपुर।राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण के अन्तर्गत विश्व तम्बाकू निषेध दिवस श्रीम ट्रीट टू अवर इनवायरमेन्ट ) पर मुख्य चिकित्साधिकारी  के कार्यालय में एक हस्तकार अभियान का आयोजन किया गया साथ ही लोगों द्वारा शपथ ली गयी । विश्व तम्बाकू निषेद दिवस पर नोडल अधिकारी डा ० सुरेश कुमार द्वारा बताया गया कि पर्यावरण पर तम्बाकू उद्योग का हानिकारक प्रभाव बहुत बड़ा है और हमारे ग्रह के पहले से ही दुर्लभ संसाधनो और नाजुक परिस्थितिक तंत्र अनावश्यक दबाव पड़ रहा है। तम्बाकू से हर साल करीब 8 मिलियन से अधिक लोगों की मृत्यु होती है । और पर्यावरण को नष्ट करता है । खेती उत्पादन , खपत और बाद के कचरे के माध्यम से मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है . इसलिए हम सबको प्रतिक्षा लेनी चाहिए कि इस वरण को सुरक्षित रखना है तो हमें इस तम्बाकू जैसी जानलेवा चीज से दूर होना होगा और अपने पर्यावरण से भी दूर रखना होगा । जिला प्रशासनिक अधिकारी संदीप कुमार द्वारा बताया गया कि आज विश्व तम्बाकू निषेद की सीम ( टोबेको ट्रीट टू अपर इनवायरमेन्ट ) के अनुसार तम्बाकू पर्यावरण के लिए खतरा बन चुकी है । तम्बाकू पर्यावरण को नुकसान पहुंचाती जा रही है । इसका मूल श्रोत तम्बाकू उत्पादन करना , उपयोग करना हमारी पानी मिट्टी समुद्र तटों और शहर की सड़को पर रसायनो , जहरीले कचरे , सिगरेट बटस , माइक्रो प्लॉस्टिक ई - सिगरेट करे के साथ जहर को उपयोग करता है । इसलिए पर्यावरण में किसी भी प्रकार के बने तम्बाकू से बने उत्पादों की सम्मिलित न करे । रीजनल कोऑडिनेटर यूपी ० पी ० एच ० लखनऊ पुनीत कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अगर इस ग्रह को बचाना है तो हमें तम्बाकू से बने उत्पादों का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर सेवन लगातार लोगों द्वारा किया जायेगा तो हम अपने पर्यावरण को कैसे बचायेगे क्योंकि तम्बाकू में लगभग सात हजार रसायन तत्व पाये जाते है , जो कि हमारे स्वास्थ्य के हानिकारक है । अत : आज से ही हम सबको यह प्रण लेना चाहिए कि तम्बाकू जैसे जानलेवा पदार्थ का सेवन न करे । इस कार्यक्रम में प्रमुख्य रूप से महेन्द्र सिह लोधी सहायक शोध अधिकारी  मंगला प्रसाद स्टेनो व समस्त अधिकारी व कर्मचारी सम्मिलित रहे ।