बुंदेलखंड के सभी सामाजिक संगठन एक स्वर में अखंड बुंदेलखंड की आवाज बनें - प्रवीण पाण्डेय

 बुंदेलखंड के सभी सामाजिक संगठन एक स्वर में अखंड बुंदेलखंड की आवाज बनें - प्रवीण पाण्डेय 



रानी झांसी का बलिदान दिवस की पूर्व संध्या पर  दीप प्रज्वलित कर अर्पण की  श्रद्धांजलि


बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के केंद्रीय अध्यक्ष ने  पर्यावरण , पानी ,पेड़ के  संरक्षण का संकल्प दिलाया 


फतेहपुर : बुंदेले हरबोलों के मुंह से हमने सुनी कहानी थी, खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली रानी थी।”


खागा नगर के अमर शहीद स्मारक में बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के स्वयंसेवकों ने   देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की अमर दीपशिखा झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का बलिदान दिवस की पूर्व संध्या पर आज उन्हें नमन किया  । उनकी वीरता को नमन करते हुए समिति के केंद्रीय अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए वीरांगना के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किया । वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई को अपनी मातृभूमि से बेहद प्यार था। उन्होंने राष्ट्र की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया। उनका बलिदान अमर है। शौर्य से परिपूर्ण रानी को अपनी कर्म भूमि से बड़ा स्नेह था। अंग्रेजों को भी उन्होंने स्पष्ट चेतावनी दी थी कि मैं अपनी झांसी नहीं दूंगी। केंद्रीय अध्यक्ष ने आव्हान किया कि 

बुंदेलखंड के सभी सामाजिक संगठनों को अपने मतभेद भूलकर एकजुटता से प्रयास करना चाहिए कि बुंदेलखंड राज्य निर्माण हो सके l इस अवसर पर बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के केंद्रीय अध्यक्ष ने  पर्यावरण , पानी ,पेड़ के  संरक्षण का संकल्प भी दिलाया l इस अवसर पर मुख्यरूप से राम प्रसाद विश्वकर्मा, शैलेंद्र तिवारी , अक्षय कुमार, अवधेश मिश्रा , शुभम द्विवेदी , प्रीतेश सिंह , निलय सिंह , राज बहादुर मौर्य , मास्टर साहब  आदि रहे l मुख्य वक्ता  स्मारक समिति राम प्रताप सिंह ने विस्तार से रानी के जीवन पर प्रकाश डाला l