मुख्यमंत्री योगी ने 160 करोड़ रुपये की 144 आवासीय परियोजना का किया लोकार्पण

 मुख्यमंत्री योगी ने 160 करोड़ रुपये की 144 आवासीय परियोजना का किया लोकार्पण 



न्यूज़।सीएम योगी ने कहा कि बीते विधानसभा चुनाव में कानून व्यवस्था एक मुद्दा थी जिसके आधार पर कम से कम आधी आबादी ने सरकार के समर्थन में अपना वोट दिया। प्रदेश में कोई आना नहीं चाहता था। बीते पांच साल में चार लाख करोड़ का निवेश हुआ है।  बीते विधानसभा चुनाव में कानून व्यवस्था एक मुद्दा थी। प्रदेश की आधी आबादी ने इसी मुद्दे पर सरकार के पक्ष में वोट किया। कानून व्यवस्था बेहतर होने के चलते ही बीते वर्षों में चार लाख करोड़ का निवेश उत्तर प्रदेश में हुआ है । अब प्रदेश में निवेशक आना चाहता है और निवेश करना चाहता है। यह कहना है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। मुख्यमंत्री बुधवार को लोक भवन में आयोजित पुलिस विभाग के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 160 करोड़ रुपये की 144 आवासीय परियोजना का लोकार्पण किया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच वर्ष पहले उत्तर प्रदेश की सभी बीमारू प्रदेश की थी। विकास की कोई सोच नहीं थी। कानून व्यवस्था बदतर थी। हर दूसरे तीसरे दिन बड़े दंगे होते थे। जिसके कारण लोगों के धारणाएं बहुत खराब थी। उत्तर प्रदेश के अंदर कोई भी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं करता था। पुलिस कर्मियों के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। भर्तियां नहीं हो रही थी। पीएसी की 54 कंपनियां समाप्त कर दी गई थी। महिला पीएसी की कोई व्यवस्था नहीं थी। आपदा प्रबंध के लिए कोई बल नहीं था। हमने इन कमियों को दूर किया। 162000 पुलिसकर्मियों की भर्ती की। पुलिस को आधुनिक बनाने का काम किया जा रहा है। प्रदेश के सभी परि क्षेत्रीय मुख्यालयों पर साइबर लैब की स्थापना की गई है। विशेष सुरक्षा बल का गठन किया। इन्हीं सब का परिणाम है कि आज उत्तर प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था पूरे देश में नजीर बनी हुई है।

Popular posts
खेत जा रही देवरानी जेठानी को दबंग परिजनों ने पीटकर किया लहूलुहान
चित्र
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से पेट्रोल पंप में हुआ भारी नुकसान
चित्र
नवागंतुक मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद विकास भवन के कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय, सहकारिता कार्यालय, आरईएस, जल शक्ति कार्यालय आदि कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण
चित्र