दहेज लोभियों द्वारा गर्भवती नवविवाहिता की जान लेने का आरोप

 दहेज लोभियों द्वारा गर्भवती नवविवाहिता की जान लेने का आरोप



थाने पर कोई सुनवाई न होने पर पीड़ित आज पहुंचा पुलिस अधीक्षक की चौखट 


 फतेहपुर। जनपद के खागा कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत खैरई गांव के निवासी सुरेश पुत्र हरीप्रसाद ने पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र देते हुए बताया कि उसकी पुत्री पूजा देवी जगेशर पुत्र बाबूलाल निवासी खैरई के साथ दिनांक 03/02/2022 को एक मंदिर में जाकर शादी कर लिया था और उसी दिन तहसील में जाकर शादी की लिखा –पढ़ी भी हो गई थी।पीड़ित ने बताया कि उसकी पुत्री को सास शीलावती पत्नी बाबूलाल,जगेशर पुत्र बाबूलाल,जेठ रमेश पुत्र बाबूलाल,जेठानी विनीता देवी पत्नी रमेश व ननद लक्ष्मी देवी पुत्री बाबूलाल उपरोक्त लोगों ने पीड़ित की पुत्री से कहा कि तुम अपने पिता से दो लाख रुपए व मोटर साइकिल लेकर आओ नहीं तो तुमको घर पर नहीं रहने देंगे।पीड़ित ने बताया कि उसकी पुत्री यह सब बातें अपने पिता से बताया और कहा कि उनको दहेज न मिलने के कारण मुझे दिन प्रतिदिन प्रताड़ित करते हैं तथा भद्दी भद्दी गालियां भी देते हैं।जिस संबंध में पीड़ित सुरेश,भाई उमेश,ब्रजभूषण पुत्र मन्नू लाल निवासी दरियामऊ थाना खखरेरू, रामकरन पुत्र बच्ची लाल निवासी सूरतपुर व रामशरण पुत्र देशराज निवासी सोथरापुर थाना खखरेरू ये सभी लोग मिलकर ससुरालिजनों को समझाने के लिए गए जहां ससुरालिजनो ने कोई बात नहीं सुनी। वहीं पीड़ित ने बताया कि दिनांक 10/07/2022 को समय करीब दो बजे दोपहर को जगेशर, शीलावाती,रमेश, नीता देवी व लक्ष्मी देवी ने एक साथ मिलकर पीड़ित की पुत्री पूजा देवी को फांसी पर लटका दिया जहां वह तीन महीने की गर्भवती भी थी।जहां फांसी पर लटकाने के कारण पुत्री और उसके पेट में पल रहा बच्चा मौत के आगोश में समा गए। वहीं पीड़ित के अनुसार शोर शराबा सुनकर पीड़ित सुरेश,ब्रजभूषण, रामकरन, रामशरन व उमेश मौके पर जाकर देखा तो उसकी पुत्री फांसी पर लटकी हुई थी।जिसकी शिकायत वह संबंधित थाने पर किया लेकिन कोई सुनवाई न होने के कारण पीड़ित न्याय की उम्मीद लेकर आज एसपी ऑफिस पहुंचकर शिकायती पत्र देते हुए कानूनी कार्यवाही किए जाने की मांग की है।