आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के बाद भी मूसेपुर गाँव में नहीं पहुंची बिजली

 आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के बाद भी मूसेपुर गाँव में नहीं पहुंची बिजली



नगर पालिका क्षेत्र में पड़ने वाले इस गाँव मे आज भी मोमबत्ती के सहारे पढ़ाई करते हैं बच्चे


पूर्व विधायक के प्रयासों से खम्बे और तार तो लग गई किंतु तारों पर नहीं दौड़ा करेंट

                 

फतेहपुर। प्रदेश के अधिकांशतः गाँवों में बिजली पहुंचाने का दम भरने वाली सरकार में एक ऐसा भी गाँव है जहाँ आजादी के बाद से लोगों को बिजली के दर्शन तक नहीं हुए। ऐसा भी नहीं है कि यह गाँव दूरस्थ इलाके में हो। हैरत तो इस बात की है शहर की नगर पालिका क्षेत्र में पड़ने वाले मूसेपुर गाँव के लोगों के लिए बिजली एक सपना बन कर रह गई है। बिजली के लिए ग्रामीणों ने डीएम, सम्बंधित विभाग, नगर पालिका अध्यक्ष और निवर्तमान विधायक के यहां भी गुहार लगाई। लेकिन कोई भी इस गाँव को रोशन न कर पाया। हालांकि पूर्व सदर विधायक विक्रम सिंह के प्रयास के बाद गाँव मे बिजली के खंभे और तार जरूर लग गए। लेकिन उनमें करेंट न दौड़ पाया। जिसकी वजह से यह बिजली के खंभे और तार शो पीस बनकर गाँव की शोभा बढ़ा रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि गाँव मे उनके आजादी के बाद से आज तक बिजली नहीं आई है। जिसके चलते गाँव हमेशा अंधेरे में रहता है। बच्चों को पढ़ाई में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गाँव के बच्चे मोमबत्ती की रोशनी में पढ़ाई करते हैं। गाँव के राम भवन और सुबराती ने बताया कि सभी अधिकारियों की चौखट पर दस्तक देने के बाद भी गाँव बल्ब की रोशनी से रोशन नहीं हो पाया। जिसके चलते ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व विधायक विक्रम सिंह के प्रयास से गाँव मे लाइन तो खींच गई लेकिन उनमें करेंट नहीं दौड़ पाया। जिसके बाद भी ग्रामीणों ने कई बार अधिकारियों से शिकायत की लेकिन किसी ने भी सुध नहीं ली। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि 11 हजार लाइन लगाने के लिए तत्कालीन जेई ने लाखों का स्टीमेट बनवाया था। जिसके लिए ग्रामीणों से पैसों की मांग की गई थी। ग्रामीणों द्वारा रकम न दे पाने पर काम आधे में लटक गया। ग्रामीणों ने बताया कि गाँव के लोगों के पास इतना पैसा नहीं है कि वह स्टीमेट की रकम दे पाएं। आखिरकार चाहे जो हो नगर पालिका क्षेत्र में आने वाले मूसेपुर गाँव मे आजादी के बाद से बिजली न पहुंच पाना विकास के सारे दावों की पोल खोल रहा है। जब इस मामले में जेई से बात की गई तो उन्होंने बताया कि स्टीमेट बनाकर भेजा गया है जैसे ही पैसा आवंटित होगा गाँव मे बिजली की आपूर्ति का काम शुरू कर दिया जाएगा।

टिप्पणियाँ
Popular posts
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र
प्रदेश कमाने गए पति की गैरमौजूदगी में महिला के साथ पड़ोसियों ने किया बदसलूकी
चित्र