नगर पालिका परिषद से एक सैकड़ा से अधिक सफाई कर्मियों का फर्जी वेतन निकालकर विभागीय अधिकारी हो रहे मालामाल

 नगर पालिका परिषद से एक सैकड़ा से अधिक सफाई कर्मियों का फर्जी वेतन निकालकर विभागीय अधिकारी हो रहे मालामाल



फतेहपुर।  नगर पालिका परिषद के एक सौ से अधिक सफाई कर्मचारियों का फर्जी तरह से वेतन निकाल कर विभागीय अधिकारी हो रहे हैं मालामाल। सफाई विभाग का लिपिक मोहम्मद हबीब लगातार दस वर्षो से सफाई लिपिक होने के साथ सफाई निरीक्षक के साथ सहयोगी सफाई निरीक्षक बनकर सफाई कर्मचारियों का करता है आर्थिक दोहन। 

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नगर पालिका परिषद के सफाई निरीक्षक की सांठ-गांठ से सफाई लिपिक मोहम्मद हबीब लगभग एक दर्जन से अधिक स्थायी कर्मचारियों एवं पचास से अधिक संविदा सफाई कर्मचारियों को घर बैठे वेतन दिलवा रहे हैं। जबकि लगभग एक सौ से अधिक आउट सोर्सिंग ( ठेकेदारी ) में रखे गये सफाई मजदूरों के नाम पर लाखों रुपये की मजदूरी का बंदरबांट किया जा रहा है। 

सफाई लिपिक मोहम्मद हबीब अपने कई रिश्तेदारों के नाम पर ठेकेदारी में रखकर बिना काम के मजदूरी का भुगतान करवा रहे हैं। यही नहीं पचास वर्ष से अधिक अधेड़ लोगों को सफाई मजदूर के पद पर रखवा कर सफाई लिपिक अपने रिश्तेदारों को बिना काम लिए  मजदूरी का भुगतान करा कर लाभान्वित करा रहे हैं। 

नगर पालिका परिषद के पूर्व वाईस चेयरमैन राजकुमार तिलक सहित अन्य लोग जनसूचना के तहत स्थायी, संविदा एवं ठेकेदारी में कार्यरत सफाई मजदूरों की सूची एवं कार्यक्षेत्र की जानकारी हेतु सूचना मांगने का निर्णय लिया है।

टिप्पणियाँ