मार्ग गड्ढा युक्त होने से लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं, डिप्टी सीएम की भी कवायद फेल

 मार्ग गड्ढा युक्त होने से लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं, डिप्टी सीएम की भी कवायद फेल



सही हो या गलत, दर्द तो जनता को ही झेलना पड़ता है


फतेहपुर। ग्रामीण व नगरीय तथा शहरी क्षेत्रों को जोड़ने वाले मार्ग गड्ढा मुक्त ना होकर गड्ढा युक्त हो जाने से लोगों को यात्रा तय करने में कड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है जहां एक ओर उत्तर प्रदेश सरकार गड्ढा मुक्त रोड की वाह वाही लूट रही है वहीं दूसरी ओर भारी वाहनों में ओवरलोडिंग के चलते मुख्य मार्गों में एक नहीं बल्कि अनगिनत जर्जर व गड्ढा युक्त रोडे वर्तमान समय आवागमन में छोटे वाहनों से लेकर बड़े वाहनों को कड़ी कठिनाइयों का सामना करने में मजबूर करते हुए उन्हें यात्रा तय करना पड़ रहा है। इन गड्ढा युक्त मुख्य मार्गो में मार्ग दुर्घटनाएं भी होती हैं किंतु अभी तक यह मुख्य मार्ग गड्ढा युक्त से गड्ढा मुक्त मार्ग नहीं बन पाए। बिंदकी चौडगरा से होते हुए बांदा की ओर जाने वाला मार्ग पूर्ण रूप से गड्ढा युक्त है इसी तरह चौडगरा से भोगनीपुर की ओर जाने वाला मार्ग भी गड्ढा युक्त से अछूता नहीं है। इसी तरह ग्रामीण आंचलों व कस्बा व नगरी तथा शहरी क्षेत्रों को जोड़ने वाले मार्ग जर्जर देखने को मिल रहे हैं जिससे क्षेत्रीय लोगों में तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म बना है। गाजीपुर, असोथर, विजयीपुर से होकर खखरेरू,धाता से उत्तर प्रदेश में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के गृह जनपद कौशांबी (सिराथू) को मार्ग से जोड़ना चाहते थे। किंतु तमाम कोशिशों के बाद भी मार्ग की हालत में सुधार नहीं हो पाया। नतीजन डिप्टी सीएम की यह भी कवायद फेल साबित होती नजर आ रही है।

वही जानकारों की माने तो रोड चौड़ीकरण के साथ गहरे गड्ढे मार्गो में दुरुस्तीकरण की मांग पर सरकार ने सड़क के चौड़ीकरण के लिए 24 करोड़ रुपए अवमुक्त किया। काम शुरू भी हुआ तो सड़क तो चौड़ी हो गई वहीं सड़क के गड्ढे गहरे हो गए। नतीजन बारिश में सड़क ओवरलोडिंग वाहनों व सड़क कार्य होने के दौरान मानक विहीन होने से मार्ग टिकाऊ नहीं बन पाने से समय से पहले ही गड्ढों में तब्दील हो गए। अब ऐसे में आम जनमानस किसको दोषी व लापरवाह माने, क्योंकि सही हो या गलत, दर्द तो जनता को ही झेलना पड़ता है?

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
सर्प ने सात बार काटा सपने में सांप बोला नौंवी बार साथ ले जाएंगे कोई तंत्र मंत्र नही बचा पायेगा
चित्र
छात्र शौर्य द्विवेदी ने कबाड़ी से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र