जिला विकास सम्मेलन एवं निगरानी समिति की बैठक खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्य मंत्री की अध्यक्षता में संपन्न

 जिला विकास सम्मेलन एवं निगरानी समिति की बैठक खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्य मंत्री की अध्यक्षता में संपन्न




फतेहपुर।जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति(दिशा) की बैठक साध्वी निरंजन ज्योति, सांसद/राज्यमंत्री उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण, ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार की अध्यक्षता  एवं समिति के सदस्यों  अध्यक्ष जिला पंचायत अभय प्रताप सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष  आशीष मिश्रा, विधायक बिन्दकी  जय कुमार सिंह जैकी,  विधायक खागा श्रीमती कृष्णा पासवान,  विधायक अयाह शाह  विकास गुप्ता,विधायक बिन्दकी राजेन्द्र कुमार सिंह,विधायक सदर  चंद्रप्रकाश लोधी, विधायक हुसेनगंज श्रीमती ऊषा मौर्या व  ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान आदि सदस्यों की उपस्थिति में विकास भवन सभागार में बैठक सम्पन्न हुई।

 उन्होंने कहा कि दिशा की बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा जो समस्याये उठायी जाती है, उसका निराकरण संबंधित अधिकारी 15 दिन के अंदर निस्तारण कराते हुए सूचना भेजे और दिशा की बैठक की बुकलेट बैठक के एक सप्ताह पूर्व भेजवना सुनिश्चित करे ताकि सदस्यों द्वारा अध्ययन करने के उपरांत बैठक में अपने विचार बिन्दु रखे।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि जो चश्मो का वितरण हुआ है, कि सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करायी जाए, ऐसे कार्यक्रम ब्लॉक स्तरों में कराकर लोगो जागरूक किया जाय। अमृत सरोवर 116 ग्रामो में बने पाए गए है इन्हें अन्य ग्रामो में भी चयनित कर बनाने पर जोर दिया और नियमानुसार सभी मानको से संतृप्त किये जाय। मनरेगा योजना में कार्य करने वाले श्रमिको को प्रधानमंत्री आवास व केन्द्र/प्रदेश सरकार की लाभार्थी परक, जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जाय। उन्होंने कहा कि गौआश्रय स्थलों में बच्चों व झगड़ालू गौवंशो को अलग-अलग शेडो में रखे ताकि एक दूसरे को क्षति न पहुचाने पाए। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह 13292 का गठन किया गया है जिसमे 140000 महिलाएं कार्य कर रही है। उन्होंने उपायुक्त स्वतः रोजगार को निर्देशित किया कि समूह से और महिलाओं को जोड़ा जाए और जनपद स्तर पर एक वृहद कार्यक्रम का आयोजन किया जाय। जिसमे जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाय जिससे महिलाएं जागरूक होकर आत्मनिर्भर बन सके। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना(ग्रामीण) में जो 25 हजार के आवास पात्रों को दिए जाने है, इसकी जांच विधानसभावार कमेटी बनाकर करायी जाय और पात्रों को शामिल कराया जाय। कांशीराम योजनांतर्गत जो खाली पड़े आवास है व अपात्रों को एलॉटमेंट किया गया है, कि जांच कराकर पात्रों को दिया जाय और अपात्रों से आवास खाली कराया जाय। स्वच्छ भारत मिशन(ग्रामीण) के तहत जिन लाभार्थियों को शौचालय से लाभान्वित नही किया गया है, कैम्प लगाकर पात्रों को लाभ दिया जाय। ग्रामो की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाय । नगर पालिका परिषद फतेहपुर के लिए शासन स्तर से सीवर लाइन की स्वीकृति हो गयी है जिसका डीपीआर बनाकर शासन को जल्द से जल्द भेजे। उन्होंने कहा कि जनपद में विद्युत के जर्जर तारो, 151 कृषि फीडर बनाये जाने है जो रिवैम योजनांतर्गत कार्य किया जाना है की पूरी प्रक्रिया पूर्ण कराते हुए जनपद की विद्युत व्यवस्था दुरुस्त की जाए जिससे कि नागरिको को सही से विद्युत मिल सके। उन्होंने कहा कि विद्युत चोरी व अन्य मामलों में मुकदमे दर्ज किए गए है कि कमेटी बनाकर जांच करायी जाय। विद्युत विभाग में जो संविदाकर्मी है, उन्हें पूरे उपकरण उपलब्ध कराए जाय। जिससे कि कर्मी सुरक्षा के साथ कार्य कर सके साथ ही भुगतान समय से किया जाय। प्रधानमंत्री सड़क योजना(ग्रामीण) तथा सड़क मरम्मतीकरण का कार्य किया जा रहा है, के कार्यो को गुणवत्तापूर्ण ढंग से जल्द से जल्द पूर्ण कराये जाय। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जनपद के नागरिको को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करायी जाय। वृद्धा, निराश्रित महिला, दिव्यांग पेंशन के कैम्प लगाकर पात्रों को लाभान्वित किया जाय । जनपद में निपुण भारत मिशन के तहत शिक्षा के स्तर में सुधार के लिए टीएलम के माध्यम शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए बच्चों में सीखने के विकास पर कार्य किया जा रहा है। 

उन्होंने एकीकृत विद्युत विकास योजना, राष्ट्रीय पेय जल योजना, राजस्व अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण(आधुनिकीकरण), डिजिटल इंडिया लैंड रिकार्ड आधुनिकीकरण, सर्व शिक्षा अभियान, मध्यान्ह भोजन, अनुपूरक पुष्टाहार, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम, राष्ट्रीय राजमार्ग, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, परम्परागत कृषि विकास योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना, प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना(शहरी), प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कौशल योजना, ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार, सुगम भारत अभियान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आदि योजनाओ की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जनपद के विकास के लिए जिला निगरानी समिति का गठन किया गया है जिसमे मा0 जनप्रतिनिधियों के सुझाव व प्रशासनिक अधिकारियों की सकारात्मक पहल से जनपद का विकास लगातार किया जा रहा है। बैठक मे सार्थक परिणाम निकल रहा है। जनपद फतेहपुर आकांक्षी जनपदों में 05वें पायदान पर है जिससे कि नीति आयोग द्वारा प्रोत्साहन राशि देकर जनपद के विकास में सहयोग किया जा रहा है। विकास के लिए हम सबका एक ही धेय्य है कि हम सब मिलकर जनपद के विकास का एक नया आयाम स्थापित करें। उन्होंने कहा कि जनपद के दो रेलवे स्टेशन खागा, फतेहपुर के विकास के लिए सम्मिलित किया गया है। शादीपुर नाका में रेलवे ब्रिज के निर्माण के लिए प्रसाशनिक अधिकारी रेलवे के अधिकारियों से समन्वय बनाते हुए ओवरब्रिज का निर्माण जल्द से जल्द कराये। 

जिलाधिकारी श्रीमती श्रुति ने कहा कि अध्यक्ष व  जनप्रतिनिधियों द्वारा दिए गए सुझाओ/दिशा निर्देशों का नियमानुसार अक्षरशः पालन कराया जायेगा । 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी  सूरज पटेल, अपर जिलाधिकारी(वित्त/राजस्व) विनय कुमार पाठक, अपर जिलाधिकारी(न्यायिक)  धीरेन्द्र प्रताप, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक उ0म0रे0, अधीक्षण अभियंता विद्युत, जिला विकास अधिकारी, डीसी मनरेगा, जिला सूचना अधिकारी,डीसीएनआरएलएम सहित जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ