आत्महत्या रोकने के लिए आम आदमी क्या करें...ज्योति बाबा

 आत्महत्या रोकने के लिए आम आदमी क्या करें...ज्योति बाबा



विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस पर ज्योति बाबा का आवाहन


 धार्मिक विश्वास में कमी भी आत्महत्या का बड़ा कारण.... ज्योति बाबा 


नशे की लत आत्महत्या का माहौल बनाती है...ज्योति बाबा


 युवाओं में अति महत्वाकांक्षा परिणाम स्वरुप आत्महत्या... ज्योति बाबा 


कानपुर। भारतीय संदर्भ में आत्महत्या एक महत्वपूर्ण मुद्दा है हमारे देश में हर साल आत्महत्या के कारण एक लाख से अधिक जान चली जाती हैं पिछले दो दशकों में आत्महत्या की दर प्रति एक लाख पर 7.9 से बढ़कर 10.3 हो गई है भारत में अधिकांश आत्महत्या 30 वर्ष से कम उम्र के लोगों द्वारा की जाती हैं व्यक्ति में उत्पन्न अवसाद,दी ध्रुवीय विकार,शराब या मादक द्रव्यों का सेवन इत्यादि मानसिक विकारों को जिम्मेदार ठहराया जाता है आत्महत्या आज दुनिया में दसवें नंबर का मानव मृत्यु का कारण बन चुका है उपरोक्त बात नशा हटाओ हरियाली लाओ प्रदूषण मिटाओ अभियान के तहत विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस के परिप्रेक्ष्य में जूही हमीरपुर रोड व्यापार मंडल, सोसाइटी योग ज्योति इंडिया व पंडित दीनदयाल उपाध्याय एग्रीकल्चर एंड आयुर्वैदिक रिसर्च संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में मिशन देव ज्योति के सहयोग से आयोजित आत्महत्या रोकथाम हेतु मानव श्रृंखला एवं स्वास्थ्य परिचर्चा आत्महत्या क्यों और कैसे कारण एवं निदान पर अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्ति अभियान के प्रमुख योग गुरू ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि आत्महत्या की रोकथाम एक वाक्यांश है जिसे रोकथाम के उपाय के माध्यम से आत्महत्याओं की घटनाओं को कम करने के लिए सामूहिक प्रयास के लिए उपयोग किया जाता है कुछ विधियो तक पहुंच को कम करना जैसे विष, मदिरा व मादक गोलियां तथा आर्थिक विकास को बढ़ाकर कर सकते हैं कुछ चिकित्सक रोगियों से आत्महत्या रोकथाम अनुबंध पर हस्ताक्षर कराते हैं। पंडित दीनदयाल संस्थान के अध्यक्ष भरत भाई पटेल ने कहा कि आत्महत्या को अक्सर रोका जा सकता है और इसे रोकने के प्रयास व्यक्तिगत,रिश्ते,समुदाय और समाज के स्तर पर हो सकते हैं आत्महत्या का गंभीर प्रभाव व्यक्तियों,परिवारों और समुदायों पर लंबे समय तक रह सकता है। जूही हमीरपुर रोड व्यापार मंडल के अध्यक्ष मनबोधन सिंह व महामंत्री गगनदीप सिंह ने कहा कि आत्महत्या में मनोरोग भी बड़ा कारण है एक व्यवहारिक या मानसिक पैटर्न है जो व्यक्तिगत कामकाज में महत्वपूर्ण परेशानी या हानि का कारण बनता है मानसिक टूटन,मानसिक विकलांगता, मानसिक बीमारी, तांत्रिक टूटना,मनोवैज्ञानिक विकलांगता इत्यादि आत्महत्या का कारण है। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष योग ज्योति अमरजीत सिंह पम्मी भैया ने कहा कि आज किशोरवय बच्चों का आत्महत्या करना एक बड़ी समस्या बन चुका है। इसीलिए गुरुजनों को शिक्षा के नए-नए पैटर्न अपना कर उनमें रोचकता और आत्मविश्वास बढ़ाऐ। मिडास परिवार के उपेंद्र मिश्रा एवं शोभा मिश्रा ने कहा कि जल्दी भौतिक तरक्की को ढूंढने वाले युवा आत्महत्या के रोग से पीड़ित हो जाते हैं और अपने माता-पिता को पूरे जीवन का न भरने वाला घाव दे जाते हैं। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर धर्मेंद्र शुक्ला व धन्यवाद चेयरमैन ऋषभ मिश्रा ने दिया। अंत में सभी को आत्महत्या मुक्त वातावरण बनाने हेतु ज्योति बाबा ने संकल्प कराया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
दरोगा ने खुद को गोली मार की आत्महत्या,परिजनों में मचा कोहरामपरिवारीजन सीतापुर रवाना,मौत का कारण स्पष्ट नहींबिदकी फतेहपुर।कल्यानपुर थाना क्षेत्र के जलाला निवासी दरोगा मनोज कुमार गौड़ की मौत से हड़कम्प मच गया।वह जनपद सीतापुर के मछरेहटा थाने में तैनात थे।बताया जा रहा दरोगा ने खुद को सरकारी असलहे से गोली मार ली।उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।सीतापुर जिले के मछरेहटा थाने में तैनात दरोगा ने शुक्रवार सुबह खुद को संदिग्ध परिस्थितियों के चलते गोली मार ली।पुलिस ने मछरेहटा सीएचसी में भर्ती कराया।जहां से चिकित्सको ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया।जिला अस्पताल में चिकित्सकों ने उनकी मौत की पुष्टि की है।मछरेहटा थाने में तैनात दरोगा मनोज कुमार मूल रूप से फतेहपुर जनपद कल्यानपुर थाना क्षेत्र के जलाला गांव निवासी थे।पाँच महीने से मछरेहटा थाना मे तैनात थे।वह दीवान से दरोगा बने थे।सरकारी असलहे से खुद को गोली मारे जाने की बात सामने आई है। मौके पर ही वह गिर पड़े। पुलिसकर्मियों ने उनको उठाकर सीएचसी में भर्ती कराया।जहां उनकी हालत नाजुक देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी प्रवीन रंजन ने बताया कि उनको कारण की जानकारी नहीं है।वहीं पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने बताया कि उपनिरीक्षक मनोज कुमार की इलाज के दौरान मौत हो गई है।उनके परिजनों को सूचित किया गया है।शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है। *दस भाई बहनो में दरोगा था सबसे बड़ा*दरोगा मनोज कुमार गरीब परिवार में जन्मे थे।पिता रामऔतार गौड़ मजदूरी कर दस बच्चों का पालन पोषण किया।आठ बहनो व दो भाईयो मे दरोगा मनोज कुमार सबसे बड़े थे।लखनऊ के बिजनौर मे उनका निवास था।जहा पत्नी गीता देवी व तीन बच्चे ऋतिक उर्फ आकाश(पुत्र),आँचल(पुत्री)व शिवेंद्र उर्फ सिब्बु(पुत्र) के साथ रहते थे।मार्च मे पाँच दिनों की छुट्टी मे घर भी आये थे।पिता रामऔतार के अनुसार वह स्वयं गोली नही मार सकते।जानकारी पाते ही गाँव मे कोहराम मच गया।परिजन सीतापुर के लिए रवाना हो गए है।
चित्र
गांव की बेटी DRDO में वैज्ञानिक बन करेगी रिसर्च अमौली/फतेहपुर।देश सेवा का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए दिनरात एक करने वाली बेटी ने रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट पर स्थान पाकर जनपद का ही नही अपितु प्रदेश का नाम रोशन कर दिया। जनपद के अमौली ब्लॉक अंतर्गत कुलखेड़ा की बेटी शिखा त्रिपाठी पुत्री मनोज त्रिपाठी ने दशवी तक की शिक्षा गफूर एजुकेशन सेंटर अमौली से 89℅ अंको के साथ उत्तीर्ण की और इंटर मीडिएट विकास विद्या मंदिर इंटर कॉलेज जहानाबाद से 93.6%अंक हासिल किया । तथा स्नातक पीपीएन डिग्री कॉलेज कानपुर से मैथेमेटिक्स डिपार्टमेंट से प्रथम रैंक के साथ उत्तीर्ण किया था। इसके बाद बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा में आल इंडिया 77 वीं रैंक के साथ पास करके मैथेमेटिक्स एंड कंप्यूटिंग विषय में 86℅ के साथ एमएससी उत्तीर्ण की। तत्पश्चात ऑल इंडिया 110 रैंक के साथ राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा(नेट) और गेट की परीक्षा पास की। इसके बाद आइआइटी मंडी हिमांचल प्रदेश में पीएचडी के लिए चयन हुआ । पर सपना कुछ और बड़ा करने का था जिसके चलते दाखिला नहीं लिया। शिखा अपने घर मे सदैव इसरो व डीआरडीओ में रिसर्च कर देश सेवा करने का अवसर प्राप्त करने की बात करती रहती थी। डीआरडीओ का इंटरब्यू देने के बाद शनिवार को घर पर ज्वाइनिंग लेटर आया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट के पद पर ज्वाइनिंग लेटर आने के बाद शिखा त्रिपाठी ने अपने लक्ष्य पर सफलता प्राप्त की।
चित्र
लूट व चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाला अभियुक्त गिरफ्तार बांदा - लूट व चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले शातिर अभियुक्त को थाना कोतवाली नगर पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार । अभियुक्त के कब्जे से दिनांक 13.04.2024 को लूटा गया 01 मोबाइल फोन व दिनांक 12.04.2024 को चोरी की गई मोटरसाइकिल बरामद । पुलिस अधीक्षक बांदा अंकुर अग्रवाल के निर्देशन में जनपद में अपराध एवं अपराधियों पर नियंत्रण लगाये जाने तथा वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी चलाये जा रहे अभियान के क्रम में आज दिनांक 14.04.2024 को थाना कोतवाली नगर पुलिस द्वारा लूट व चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले 01 अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया । गौरलतब हो कि अभियुक्त द्वारा दिनांक 13.04.2024 को जिला पंचायत गेट नं0-01 के पास से एक लड़की से मोबाइल लूट की घटना को तथा दिनांक 12.04.2024 को नजरबाग सब्जी मंडी से एक मोटरसाइकिल की चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था जिसके संबंध में थाना कोतवाली नगर पर अलग-अलग अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे थे इसी क्रम में पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना अभियुक्त को रोशन मैरिज हॉल के पास से गिरफ्तार कर लिया गया । अभियुक्त के कब्जे से अलग-अलग घटनाओं में लूटा गया मोबाइल फोन व चोरी की गई मोटरसाइकिल बरामद हुई है ।
चित्र
जुमले बाज भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का सपा प्रदेश अध्यक्ष ने किया आह्वानसंविधान की रक्षा के लिए इंडिया गठबंधन प्रत्याशी को जिताने का कार्यकर्ताओं ने लिया संकल्पबिंदकी फतेहपुर।भाजपा सरकार जुमलों की सरकार है। किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया।प्रतिवर्ष देश के दो करोड़ रोजगार देने का वादा करने वाली मोदी सरकार ने रोजगार देना तो दूर रहा रोजगार के अवसर ही ही समाप्त कर दिया।यह बात आज बिंदकी तहसील के विकास खंड देवमई परिसर के पास आयोजित एक कार्यकर्ता सम्मेलन में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बडी़ संख्या में आए समाजवादी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कही। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने अपने सम्बोधन में कहा कि भाजपा सरकार पूंजी पतियों की सरकार है। गरीब गरीब होता जा रहा है और अमीर अमीर होता जा रहा है। उन्होंने हरित क्रांति के नायक रंगनाथन कमेटी की सिफारिश लागू करने का 2014 के चुनाव में वादा किया था लेकिन दस वर्ष बीत जाने के बाद भी लागू नहीं किया। किसानों की उपज का उचित मूल्य दिलाने किसानों की आय दोगुनी करने को कहा था लेकिन ऐसा कुछ भी नही हुआ। गैस सिलेंडर जब तीन सौ पचास रुपये का था तब भाजपा ने कीमत कम करने को कहा था कम करने की जगह 1150 रुपये का कर दिया। जिस गैस सिलेंडर का उपयोग चाट खोमचा व सड़क किनारे खानपान की दूकान चलाने में उपयोग करता है उस कामर्शियल सिलेंडर का दाम कर दिया जिससे गरीबो की रोटी महगी हो गई। डीजल पेट्रोल के भाव दोगुने हो गए। अब भाजपा सरकार संविधान के साथ छेड़छाड़ कर रही है। अगर कभी भी आम मतदाता नही चेता तो भाजपा सरकार संविधान को ही बदल देगी। आज देश का संविधान खतरे में है इसे बचाने के लिए भाजपा को रोकना जरूरी हो गया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश को अगर महगाई, बेरोजगारी, भृष्टाचार से निजात दिलाना है तो भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकना होगा। उन्होंने ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे गाँव गाँव घर घर जाकर भाजपा की किसान विरोधी, मजदूर विरोधी, रोजगार विरोधी समाज में नफरत फैलाने वाली नीतियों को बताना होगा और देश के विकास, युवाओं को रोजगार, महगाई से निजात दिलाने के लिए इंडिया गठबंधन के सपा प्रत्याशी को आगामी 20 मई को सायकिल वाली बटन दबाकर जिताना होगा। इस मौके पर सपा के बिंदकी विधानसभा से पूर्व प्रत्याशी रहे वरिष्ठ नेता महेंद्र बहादुर सिंह बच्चा सिंह, वरिष्ठ नेता विजय पाल यादव, जंग बहादुर सिंह मखलू, सलोने, कल्लू सिंह, सपा के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह, पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह, फतेहपुर सदर विधायक चंद्र प्रकाश लोधी, नगर पालिका परिषद फतेहपुर के चेयरमैन राजकुमार मौर्य, फतेहपुर बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सपा नेता जगदीश सिंह उर्फ जालिम सिंह, सपा नेता रामवरन सिंह पटेल, युवजन सभा के जिलाध्यक्ष, सपा नेता पूर्व सांसद डाक्टर अशोक पटेल, सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष समर बहादुर सिंह सहित अनेक सपा नेताओं ने अपने विचार व्यक्त करते हुए भाजपा सरकार को जड से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया और सायकिल वाली बटन दबाकर सपा कांग्रेस के संयुक्त प्रत्याशी को भारी मतों से जिताने की अपील किया।कार्यक्रम का संचालन सपा के वरिष्ठ नेता विधानसभा प्रभारी जयकरन सिंह यादव ने किया। कार्यक्रम के दौरान बडी संख्या में बकेवर थाना व देवमई चौकी का पुलिस बल तैनात रहा।
चित्र
आईजीएल के बिजनेस हेड एवं यूपीडीए के अध्यक्ष प्रदेश में गुणवतापूर्ण मक्के की उत्पादकता एवं किसानों की आय बढ़ाने हेतु दृढसंकल्पित न्यूज़।आईजीएल के बिजनेस हेड एस के शुक्ल भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार के बायो ईंधन के मिशन को पूर्ण करने हेतु अग्रसर है। इसी क्रम में एस के शुक्ल के नेतृव में समय समय पर किसान संगोष्ठी का आयोजन कराया जाता है और पूर्वांचल के दो जनपदों में ग्रीष्म ऋतु में भी मक्के की बुवाई कराई गई है।जहा इस मक्के से एथेनाल उत्पादन में वृद्धि होगी वही किसानों को भी अच्छी आय होगी जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार होगा।इसके पूर्व में एस के शुक्ल द्वारा कई सामाजिक क्षेत्रों में अभूतपूर्व सहयोग दिया जा रहा है, तथा कुछ क्षेत्रों में तो सदैव इनका नाम स्मरण रखा जाएगा जैसे, शिक्षा,स्वच्छता,स्वास्थ्य, पर्यावरण संरक्षण,तथा रोजगार के क्षेत्र में इनके नेतृत्व में पूरे पूर्वांचल में अविस्मरणीय कार्य कराए गए है। इसी क्रम में कुछ दिनों पूर्व पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में फैक्ट्री के टेट्रा पैक के कचरे से निर्मित दो टेबल को आम जनमानस हेतु गोरखपुर रेलवे बोर्ड को प्रदान किया। इसके साथ ही एस के शुक्ल के नेतृत्व में महिलाओं को आत्मनिर्भर और शसक्त बनाने में भी कार्य लगातार किया जा रहा है। बिजनेस हेड एस के शुक्ल इसी पूर्वांचल की माटी से है और उनका एक लक्ष्य है की पूर्वांचल औद्योगिक नगरी बने और यहां के किसान, नौजवान, महिलाएं सब आत्मनिर्भर हो और इसी दिशा में एस के शुक्ल सरकार के साथ मिलकर क्षेत्र का कायाकल्प कर रहे है। आज क्षेत्र में स्थापित प्रत्येक इकाइयों को आईजीएल से सीख लेते हुए क्षेत्र के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करानी चाहिए। एस के शुक्ल बिना भेदभाव के कार्य करते है और समाज के प्रत्येक तबके के लोगो को एक समान नजर देखते है और उनके दुखों को दूर करने का प्रयास करते है। आज जहा पूर्वांचल में किसान ग्रीष्म ऋतु में मक्के की खेती की कल्पना नहीं कर सकते थे वही एस के शुक्ल के मार्गदर्शन में किसान मक्के की बुवाई कर रहे है और यह लहलहाती हुई फसल कह रही है को वह दिन दूर नही जब पूर्वांचल का किसान यहां का भाग्य विधाता बनेगा । एस के शुक्ल के इस प्रयास और मेहनत को इतिहास में सदैव स्मरण किया जाएगा और इसे समृद्धता का आंदोलन कहा जायेगा। जिसमें सभी को समृद्ध होने और आगे आने का सामान अवसर दिया जाएगा।इस कार्य में एस के शुक्ल के नेतृव में एम बी इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट फाउंडेशन,ट्रस्ट के संस्थापक अमिताभ पांडे लगातार किसान संपर्क अभियान चला रहे है और किसानों को मक्के की खेती हेतु प्रोत्साहित कर रहे है।
चित्र