इफको किसान सेवा केंद्र में 15 दिन से डीएपी खाद नहीं

 इफको किसान सेवा केंद्र में 15 दिन से डीएपी खाद नहीं



यूरिया खाद के लिए भी मारामारी लंबी लाइन लगी


बिंदकी फतेहपुर।किसानों के लिए चाहे जितने लंबे वादे और दावे किए जाएं लेकिन किसानों की समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही है जिसका जीता जागता नमूना है कि किसानों को पिछले 15 दिन से इफ़को किसान सेवा केंद्र में डीएपी खाद नहीं मिल पा रही है इतना ही नहीं यूरिया खाद के लिए भी मारामारी है और लंबी लाइन लगानी पड़ रही है।

एक और शासन प्रशासन किसानो को प्रोत्साहन देने के लिए तमाम वादे और दावे करती है लेकिन ग्राउंड लेवल की रिपोर्ट कुछ और ही बयां करती है जिसका जीता जागता नमूना है नगर के कुंवरपुर रोड स्थित मंडी समिति के बगल का इफको किसान सेवा केंद्र। इसको किसान सेवा केंद्र की बात करें तो पिछले 15 दिनों से एक भी बोरी डीएपी खाद नहीं आई है किसान प्रतिदिन आता रहा सारा दिन डीएपी खाद की बाट जोहता रहा लेकिन एक भी बोरी डीएपी खाद न मिलने पर मायूस होकर वापस लौट जाता रहा और यही नहीं यह समस्या कम नहीं हुई इसी प्रकार यूरिया खाद के लिए भी किसानों को मस्कत करनी पड़ रही है एक-एक बोरी यूरिया खाद के लिए किसान सुबह से लंबी लाइन लगाता है उसे एक या दो बोरी यूरिया खाद मिल पाती है हालांकि अधिकारियों का दावा है कि एक किसान को कम से कम तीन बोरी यूरिया खाद दी जा रही है लेकिन किसान राम मनोहर ने बताया कि केवल यूरिया खाद केंद्र में आई है यूरिया के लिए सुबह 9:00 बजे आए हैं दिन में 2:00 बजे आए हैं अभी तक लंबी लाइन में खड़े हैं एक भी बोरी यूरिया खाद नहीं मिल पाई है वही किसान सोनू यादव ने बताया कि डीएपी खाद 15 दिन से एक भी बोरी नहीं मिल पाई है जिसके कारण परेशानी का सामना करना पड़ा है वही इस मामले में इसको किसान सेवा केंद्र प्रभारी विनय कुमार श्रीवास्तव में बताया कि डीएपी खाद नहीं आई है यूरिया खाद आई है एक किसान को तीन बोरी यूरिया खाद दी जा रही है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
डॉ0 भीमराव आंबेडकर राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय फतेहपुर के 34वें वार्षिक कीड़ा समारोह के उद्घाटन दिवस पर प्रतियोगिताएं हुई संपन्न
चित्र
नरेंद्र हत्याकांड में पिता पुत्र को पुलिस ने किया गिरफ्तार
चित्र
कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए विभाकर शास्त्री का हुआ जोरदार स्वागत .
चित्र
खनन माफिया सक्रिय, एनजीटी के नियमों को ताक पर रखकर हो रहा मौरंग का अवैध खनन
चित्र