श्रीमद् भागवत कथा के अंतिम दिन सुदामा चरित्र कथा सुनकर भावुक हुए श्रद्धालु


रविवार को होगा विशाल भंडारा



बिंदकी फतेहपुर।श्रीमद् भागवत कथा में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही सुदामा चरित्र की कथा सुनकर श्रद्धालु भाव विभोर हो गए वहीं आचार्य पंकज त्रिपाठी ने कलयुग का वर्णन भी किया। उन्होंने कहा कि मनुष्य को अच्छे कर्म करना चाहिए और देवता नहीं तो कम से कम इंसान अवश्य बने रहना चाहिए।

मलवा विकासखंड क्षेत्र के डीघ गांव में इंद्रजीत के आवास के पास चल रहे श्रीमद् भागवत कथा के साथ में और अंतिम दिन आचार्य पंकज त्रिपाठी ने जमकर ज्ञान की गंगा भाई उन्होंने सुदामा चरित्र की कथा का विस्तार से वर्णन किया कहा जब गरीब सुदामा भगवान श्री कृष्ण के दरबार में पहुंचे हैं तो उन्हें श्री कृष्ण के पास पहुंचने नहीं दिया जाता जब सुदामा ने अपना परिचय पहुंचा तब सुदामा चरित्र को भगवान श्री कृष्ण के पास जाने को मिला भगवान श्री कृष्ण ने जैसे ही मित्र सुदामा को देखा तो सीने से लगा लिया यह देख रुक्मणी भी आश्चर्यचकित रह गई कहां अमीर और राजा भगवान श्री कृष्णा दूसरी ओर गरीब सुदामा लेकिन दोनों मित्र और दोनों मित्रों का प्रेम देखकर लोग भाव विभोर हो गए श्रद्धालुओं के आंखों से आंसू छलक गए इसी क्रम में आचार्य पंकज त्रिपाठी ने कलयुग का भी वर्णन किया और कहा कि आज के युग में इंसान भगवान तो नहीं बन सकता कम से कम देवता बनने की कोशिश करना चाहिए और यदि देवता भी नहीं बन सकता तो कम से कम इंसान बने रहना चाहिए और दूसरे इंसान से इंसानियत से पेश आना चाहिए तभी जीवन का कल्याण होगा जीवन का असली लक्ष्य प्राप्त होगा इस मौके पर दीपक सिंह प्रकाश सिंह कृष्ण सिंह रंजन साधना सहित तमाम लोग मौजूद रहे इस मौके पर कार्यक्रम के आयोजकों ने बताया कि रविवार को विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा जिसमें हजारों की संख्या में लोग प्रसाद ग्रहण करेंगे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
कार ने हाइवे पार कर रही महिलाओं को कुचला, चार की मौत
चित्र
चुनाव ड्यूटी में आये हरदोई का रहने वाला होमगार्ड की बिगड़ी तबियत डॉक्टर ने किया मृत घोषित
चित्र
स्ट्रांग रूम में रखे ईवीएम मशीन के सुरक्षा व्यवस्था का एसपी ने लिया जायजा
चित्र
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
विश्वकर्मा समाज से सपा गठबंधन के पक्ष मांगे वोट-रामासरे विश्वकर्मा
चित्र